possibility-of-connecting-the-strings-of-conversion-from-syed-sarawan39s-jamia-arifia-madrasa
possibility-of-connecting-the-strings-of-conversion-from-syed-sarawan39s-jamia-arifia-madrasa

सैयद सरावां के जामिया अरीफिया मदरसा से धर्मांतरण के तार जुड़ने की सम्भावना

- फतेहपुर में पकड़े गए उमर गौतम के करीबी ने किया सनसनीखेज खुलासा - खुफिया विभाग ने बुधवार को मदरसा के खंगाले दस्तावेज, लिया अकाउंट नंबर कौशाम्बी, 30 जून (हि.स.)। धर्मांतरण प्रकरण को लेकर जांच कर रही एजेंसी फतेहपुर में पकड़े गए उमर गौतम के कुबूलनामे के बाद अब जिले के एक मदरसे पर आकर टिक गई है। माना जा रहा है कि इस मदरसे से भी धर्मांतरण कराया जा रहा है। हालांकि बुधवार को जांच के लिए पहुंची खुफिया विभाग की टीम को फिलहाल कुछ संदिग्ध नहीं मिला। टीम ने प्रबंधक से पूंछतांछ के बाद वहां पढ़ने वाले छात्रों के अकाउंट नंबर जांच के लिए लिया है। खुफिया विभाग की टीम के दस्तावेज खंगालने से मदरसे में हड़कम्प का माहौल रहा। बताया गया है कि यहां पढ़ने वाले बच्चों को भी बाहर से फंडिंग किया जाता है। फिलहाल इस मामले में अधिकारी कुछ बोलने को तैयार नहींं है। प्रदेश में धर्मांतरण को लेकर हड़कम्प मचा हुआ है। लखनऊ में एक मौलाना के पकड़े जाने के बाद पूरा मामला जांच के लिए एटीएस को सौंपा गया तो चौंकाने वाली जानकारी मिलने लगी। इस बीच फतेहपुर जिले में एक महिला ने 26 जून को खखरेरू कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया कि उसका पति गाजियाबाद में टैक्सी चलाया करता था। वहां उसने धर्मांतरण कर लिया। घर आने के बाद पहले उसने अपने परिवार वालों को और बाद में उसे धर्म परिवर्तन करने के लिए दबाव बनाया। उसने पूरा रहन-सहन भी मुस्लिम धर्म के हिसाब से कर लिया था। इस बीच धर्मांतरण कराने के मामले में उमर गौतम का भी नाम प्रकाश में आया। जिसे फतेहपुर जिले की पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा। खुफिया विभाग से जुड़े सूत्रों की माने तो धर्मांतरण कराने वाले लोगों का कौशाम्बी जिले के सैयद सरावां स्थित मदरसा जामिया अरीफिया में भी आना जाना था। वह लोग कई बार इस मदरसे में आ चुके हैं। इस जानकारी के बाद जिले के खुफिया विभाग के कान खड़े हो गए। बुधवार को इंस्पेक्टर एलआईयू प्रेम कुशवाहा ने मदरसा जाकर जांच की। बताया गया कि वहां बाहरी छात्र भी पढ़ते हैं। फंडिंग को लेकर उन्होंने छात्रों के अलावा प्रबंधन के भी खाता नंबर को जांच के लिए लिया है। इस बाबत इंस्पेक्टर एलआईयू ने कुछ बोलने से इंकार किया है। वहीं मदरसा के प्रबंधक शाहिद जैदी का कहना है कि उनके यहां बाहर के भी बच्चे पढ़ते हैं। धर्मांतरण कराने आदि की बात अफवाह है। एलआईयू के लोगों ने आकर जांच किया है। क्या कहते है एसपी इंटेलिजेंस एसपी इंटेलिजेंस प्रयागराज अजीत सिंह ने बताया, धर्मांतरण प्रकरण में गिरफ्तार उमर गौतम के कुबूलमाने के आधार पर जांच कराया जा रहा है। कौशाम्बी के मदरसे में जांच किया गया है। एक यह प्रारम्भिक जांच है। रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। फिलहाल कई बिन्दुओं से मामले की जांच की जा रही है। हिन्दुस्थान समाचार/अजय/विद्या कान्त

Related Stories

No stories found.