music-will-increase-immunity-in-the-current-scenario-dr-ritu-singh
music-will-increase-immunity-in-the-current-scenario-dr-ritu-singh

वर्तमान परिदृश्य में संगीत बढ़ाएगा प्रतिरोधक क्षमता : डा. रितु सिंह

मीरजापुर, 23 मई (हि.स.)। वर्तमान परिदृश्य में जहां संपूर्ण विश्व कोरोना जैसी प्राणघातक महामारी का सामना कर रहा है। अपनों को खो देने वाली भयावह स्थिति से लोग जूझ रहे है। ऐसी विषम परिस्थिति में शरीर में रोग प्रतिरोधक शक्ति का होना अतिआवश्यक है। शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता जितना ज्यादा रहेगी, उतना ही शरीर मजबूत रहेगा। कमला आर्य कन्या पीजी कॉलेज की असिस्टेंट प्रोफेसर डा. रीतू सिंह ने रविवार को यहां बताया कि शोध के पश्चात् वैज्ञानिकों ने यह सिद्ध किया है कि संगीत के माध्यम से निकली हुई तरंगे हमारे भीतर सकारात्मक ऊर्जा का संवहन करती है। संगीत सुनने मात्र से ही विचलित व्यक्ति में हर्ष के मनोभाव संवेग उत्पन्न होते हैं, जो नकारात्मक विचारों को साफ करके नई सकारात्मक ऊर्जा द्वारा उमंग के साथ जीवन जीने के लिए प्रेरित करती है। उन्होंने बताया कि शरीर को कोरोना जैसे रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है। हालांकि आजकल के खान-पान और गलत जीवनशैली के कारण हमारा इम्युन सिस्टम (रोग प्रतिरोधक तंत्र) इतना मजबूत नहीं रह पाता कि वह रोगों से लड़ सके। इसके कारण हमारा शरीर जल्द ही अनेक रोगों से घिर जाता है। वर्तमान समय में जब हम सब कोविड-19 के दुष्प्रभाव के कारण लॉकडाउन की स्थिति में अपने-अपने घरों में बंद है तो मानसिक दबाव से हमारी मन:स्थिति पर काफी बुरा असर पड़ रहा है। परिणाम स्वरूप हम खुद में तनाव, अनिद्रा इत्यादि मानसिक विकारों के गिरफ्त में आते जा रहे हैं। इस स्थिति में कोविड-19 से बचाव के लिए संगीत रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली औषधि का काम कर रहा है। प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में संगीत एक ऐसा सशक्त माध्यम है, जो व्यक्ति को शारीरिक एवं मानसिक रोगों व व्याधियों से मुक्ति प्रदान करता है। संगीत अवसाद, विषाद, दबाव, प्रतिबल आदि मानसिक विकृतियों के मनोभाव, आवेश, संवेद, चित्त, क्षोभ को दूर करके व्यक्ति को मानसिक रूप से स्वस्थ बना नई ऊर्जा का मस्तिष्क में संचार करती है। हिन्दुस्थान समाचार/ गिरजा शंकर

Related Stories

No stories found.