JCB द्वारा ढाया गरीब का आशियाना, छप्पर में लगी आग में झुलसकर मां-बेटी की मौत, SDM समेत 39 पर FIR

घटना की गंभीरता को देखते हुए कानपुर जोन के एडीजी आलोक सिंह, मंडलायुक्त डॉ राजशेखर के साथ एसपी बीबीजीटीएस मूर्ति समेत अन्य पुलिस के अधिकारी पहुंचे और जांच पड़ताल की।
छप्पर में लगी आग में झुलसकर मां-बेटी की मौत(सांकेतिक तस्वीर)
छप्पर में लगी आग में झुलसकर मां-बेटी की मौत(सांकेतिक तस्वीर)

कानपुर देहात, एजेंसी। जनपद में बुधवार को अतिक्रमण हटाने के दौरान आग में जलकर मां-बेटी की मौत हो गई थी। मामले में मैथा तहसील के उप जिलाधिकारी समेत 39 लोगों के खिलाफ हत्या जैसी गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। कानपुर देहात के मैथा तहसील के मड़ौली गांव में रहने वाले कृष्ण गोपाल दीक्षित के खिलाफ अवैध कब्जा करने की शिकायत थी। सोमवार को उप जिलाधिकारी मैथा ज्ञानेश्वर प्रसाद, पुलिस व राजस्व कर्मियों के साथ गांव में अतिक्रमण हटाने पहुंचे थे।

JCB द्वारा छप्पर गिराने के बाद लगी आग में झुलसने से मां-बेटी की मौत

आरोप है कि टीम ने जेसीबी से नल और मंदिर तोड़ने के साथ ही छप्पर गिरा दिया। इससे छप्पर में आग लग गई और वहां मौजूद प्रमिला (44) व उनकी बेटी नेहा (21) की आग की चपेट में आने से जिंदा जलकर मौत के गाल में समा गई। जबकि कृष्ण गोपाल गंभीर रूप से झुलस गए। घटना की सूचना पर आलाधिकारी मौके पर पहुंचे और मामले में ग्रामीणों को शांत कराया।

उपजिलाधिकारी समेत 39 लोगों पर हत्या जैसी गम्भीर धाराओं पर मुकदमा दर्ज

घटना की गंभीरता को देखते हुए कानपुर जोन के एडीजी आलोक सिंह, मंडलायुक्त डॉ राजशेखर के साथ एसपी बीबीजीटीएस मूर्ति समेत अन्य पुलिस के अधिकारी पहुंचे और जांच पड़ताल की। इसके बाद पुलिस ने पीड़ित परिवार की तहरीर पर देर उपजिलाधिकारी समेत 39 लोगों पर हत्या जैसी गम्भीर धाराओं पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मुकदमे में उपजिलाधिकारी मैथा ज्ञानेश्वर प्रसाद, कानूनगो, लेखपाल मंडौली अशोक सिंह, तीन अन्य लेखपाल, थानाध्यक्ष रूरा दिनेश कुमार गौतम के साथ गांव के अशोक,  अनिल,  निर्मल,  विशाल, जेसीबी ड्राइवर दीपक के साथ 10 से 12 अज्ञात सहयोगी को शामिल किया गया है। एडीजी कानपुर जोन ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

एसडीएम और लेखपाल को किया निलम्बित

कानपुर देहात के मड़ौली में मां-बेटी की जलकर हुई घटना में शासन स्तर पर संज्ञान लेकर सख्त रुख अपनाया गया है। प्रकरण में प्रथम दृष्टया उपजिलाधिकारी मैथा ज्ञानेश्वर प्रसाद, लेखपाल मड़ौली अशोक सिंह को निलम्बित कर दिया गया है। प्रकरण की उच्चाधिकारियों से जांच कराई जा रही है। गांव में तनाव को देखते हुए जिला व पुलिस प्रशासन द्वारा फोर्स तैनात कर दिया गया है।

Related Stories

No stories found.