menstrual-hygiene-day-awareness-in-women-is-necessary-to-avoid-infection-dr-ruchi-jain
menstrual-hygiene-day-awareness-in-women-is-necessary-to-avoid-infection-dr-ruchi-jain

माहवारी स्वच्छता दिवस : संक्रमण से बचने के लिए महिलाओं में जरुरी है जागरुकता : डॉ. रुचि जैन

— साफ और धुले कपड़े को सेनेटरी नैपकिन नहीं होने पर कर सकते हैं इस्तेमाल कानपुर, 27 मई (हि.स.)। माहवारी के समय महिलाओं में स्वच्छता रखना बेहद जरुरी है और इस समय सेनेटरी पैड इस्तेमाल किये जाए। अगर पैड नहीं है तो साफ़ धुला और धूप में सूखा हुआ कॉटन कपडा भी इस्तेमाल किया जा सकता है| सफाई के साथ ही दो—तीन घंटे के अन्तराल पर कपड़ा या पैड बदलना बहुत ही जरुरी है। यह बातें गुरुवार को माहवारी स्वच्छता दिवस पर स्त्री रोग विशेषज्ञ डा. रुचि जैन ने कही। उन्होनें कहा कि मासिक धर्म या माहवारी यह कोई समस्या या बीमारी नहीं बल्कि यह एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया से लगभग 11 वर्ष से 40 वर्ष की अधिकतर महिलाएं गुजरती हैं। बताया कि अक्सर कामकाजी महिलाएं भी इस चीज को नजरअंदाज कर देती हैं। लम्बे समय तक एक ही पैड को लगाने से पसीना और रक्तस्त्राव कि वजह से बदबू के साथ ही यौन संचारी और प्रजनन मार्ग संक्रमण (आरटीआई / एसटीआई ) फैलने कि संभावना रहती है। साथ ही उचित साफ सफाई नहीं रखने पर सर्वाइकल कैंसर होने की भी संभवाना होती है। उनका कहना है कि वक्त की जरुरत कि माहवारी पर खुलकर बात होनी चाहिए। सिर्फ बात ही नहीं, बल्कि माहवारी के दौरान महिलाओं को होने वाली दिक्कतों जैसे – पेट में दर्द, जी मिचलाना, कमर दर्द होना आदि पर भी बात होनी चाहिए क्योंकि इस वक़्त में महिलाओं को बहुत ज्यादा सहयोग की जरुरत होती है। सिर्फ पुरुषों के बीच ही नहीं, बल्कि महिलाओं के बीच भी इस पर बात करना शर्म की बात समझी जाती है। इस पर जागरुकता की जरुरत है। साथ ही कोई भी समस्या होने पर बिना हिचक के डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें और सही सलाह और इलाज लें। हिन्दुस्थान समाचार/महमूद

Related Stories

No stories found.