Rajya Sabha Election: SP से जया बच्चन, रामजी लाल, आलोक रंजन ने भरा पर्चा, राज्यसभा चुनाव की तैयारी में अखिलेश

Lucknow: राज्यसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी अपने उम्मीदवारों को चुनाव के लिए खड़ा करने के लिए तैयार है। इसमें 3 प्रमुख नेता शामिल हैं- जया बच्चन, रामजीलाल सुमन और पूर्व IAS आलोक रंजन।
Samajwadi Party
Samajwadi Party Raftaar.in

लखनऊ, हि.स.। राज्यसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश से जया बच्चन, रामजी लाल सुमन और पूर्व IAS आलोक रंजन ने समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर मंगलवार को नामांकन दाखिल किया। तीनों उम्मीदवारों ने अपना नामांकन विधानसभा परिसर स्थित कार्यालय में निर्वाचन अधिकारी ब्रजभूषण दुबे के समक्ष दाखिल किया। इस मौके पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, महासचिव शिवपाल यादव, सांसद डिंपल यादव, प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी समेत कई प्रमुख नेता मौजूद रहे।

SP अपने तीनों उम्मीदवारों को जिता सकती है- रामजी लाल सुमन

पार्टी प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी के मुताबिक जया बच्चन, रामजीलाल सुमन और पूर्व IAS आलोक रंजन ने राज्यसभा उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन दाखिल किया। रामजी लाल सुमन पूर्व सांसद हैं और SP संस्थापक मुलायम सिंह यादव के बेहद करीबी सहयोगियों में रहे हैं। उन्होंने कहा कि सपा के पास इतना संख्या बल है कि वह अपने तीनों उम्मीदवारों को जिता सकती है।

जया बच्चन 2004 से राजनीति में हैं सक्रिय

जया बच्चन अभिनेता अमिताभ बच्चन की पत्नी हैं और समाजवादी पार्टी वर्ष 2004 से ही उन्हें राज्यसभा भेजती रही है। पूर्व IAS आलोक रंजन SP के पिछले कार्यकाल में प्रदेश के मुख्य सचिव थे और अधिकारी वर्ग में उनकी खासी पकड़ मानी जाती है।

15 फरवरी तक नामांकन दाखिल कर सकते हैं

उल्लेखनीय है कि राज्यसभा की उत्तर प्रदेश से 10 सीटें खाली हुई हैं। विधानसभा में विधायकों की संख्या के आधार पर 7 सीटों पर BJP की जीत पक्की है, जबकि तीन सीटें SP के खाते में जाएंगी। विधानसभा में SP के 108 विधायक हैं और विपक्षी गठबंधन आईएनडीआईए में उसकी सहयोगी कांग्रेस के पास 2 विधायक हैं। राज्यसभा में 1 उम्मीदवार की जीत के लिए 37 प्रथम वरीयता के मतों की जरूरत होगी। राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 15 फरवरी है। आवश्यक होने पर मतदान 27 फरवरी को होगा और नतीजे भी उसी दिन घोषित किए जाएंगे।
खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.