Lok Sabha Election: कैसरगंज सीट पर बना सस्पेंस! क्या BJP बृजभूषण शरण सिंह का काटेगी टिकट? जानें अबतक का इतिहास

Uttar Pradesh News: कैसरगंज के सांसद बृजभूषण शरण सिंह को BJP ने अब तक हरी झंडी नहीं दिखाई है। लोकसभा चुनाव करीब आ रहे हैं। इस सीट से पार्टी ने अबतक रिपीट और नो रिपीट की थ्योरी का ऐलान नहीं किया है।
Brij Bhushan Sharan Singh
Lok Sabha Election
Brij Bhushan Sharan Singh Lok Sabha Election Raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। लोकसभा चुनाव शुरु होने में अब बस कुछ दिनों का इंतजार है। कैसरगंज के वर्तमान सांसद बृजभूषण शरण सिंह को BJP फिर से टिकट देगी या पार्टी नए चेहरे को लांच करेगी। इस पर अभी सस्पेंस बना हुआ है। BJP ने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट 2 मार्च को जारी की थी। इस लिस्ट में कैसरगंज से अभी पार्टी ने कोई उम्मीदवार मैदान में नहीं उतारा है।

कैसरगंज पर बना सस्पेंस

पिछले साल से बृजभूषण शरण सिंह के सिर पर खतरा मंडरा रहा है। दिल्ली के जंतर-मंतर पर पहलवानों द्वारा लगाए गए जघन्य आरोपों के बाद सबसे पहले उनकी कुर्सी छिन गई। उसके बाद पार्टी ने उनसे दर किनारा कर लिया। ऐसे में बृजभूषण शरण सिंह के सिर के उपर खतरा और बढ़ गया है। सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि पार्टी सब कुछ भुलाकर बृजभूषण शरण सिंह को वापसी का टिकट देगी या नहीं? BJP ने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट में उत्तर प्रदेश के अवध क्षेत्र के लगभग सभी क्षेत्रों से उम्मीदवारों के नामों की घोषमा कर दी है। पार्टी ने बाराबंकी से उपेंद्र सिंह रावत प्रत्याशी बने। हालांकि, हाल ही में उपेंद्र सिंह रावत की विवादित वीडियो सामने आने के बाद उन्होंने कदम पीछे बढ़ा लिए हैं और उन्होंने कहा कि "जब तक मैं निर्दोष साबित नहीं हो जाता तब तक चुनाव नहीं लड़ूंगा।" फैजाबाद (अयोध्या) की सीट से लल्लू सिंह को टिकट मिला है। बृजभूषण शरण सिंह की गृह जनपद गोंडा से भी कीर्तिवर्धन सिंह को तीसरा मौका मिला है। कैसरगंज से सपा-बसपा ने भी अब तक किसी उम्मीदवार की घोषणा जारी नहीं की है। कैसरगंज में इस समय 'वेट एंड वॉच' का खेल चल रहा है।

कैसा रहा कैसरगंज का अबतक का इतिहास?

वर्ष   सांसद राजनीतिक पार्टी

1957 भगवानदीन मिश्र कांग्रेस

1962 बसंत कुंवरि स्वतंत्र पार्टी

1967 शकुंतला नायर भारतीय जनसंघ

1971 शकुंतला नायर भारतीय जनसंघ

1977 रुद्रसेन चौधरी जनता पार्टी

1980 राणावीर सिंह    कांग्रेस

1984   राणावीर सिंह    कांग्रेस

1989 रुद्रसेन चौधरी    भाजपा

1991 एलएन मणि त्रिपाठी    भाजपा

1996 बेनी प्रसाद वर्मा          सपा

1998 बेनी प्रसाद वर्मा          सपा

1999 बेनी प्रसाद वर्मा      सपा

2004 बेनी प्रसाद वर्मा    सपा

2009 बृजभूषण शरण सिंह सपा

2014 बृजभूषण शरण सिंह भाजपा

2019 बृजभूषण शरण सिंह भाजपा

कौन होगा अगला चेहरा?

कैसरगंज लोकसभा सीट कौन जीतेगा? इससे ज्यादा सस्पेंस BJP किसे उम्मीदवार बनाएगी यह चर्चा का केंद्र बन गया है। बृजभूषण शरण सिंह के बेटे प्रतीक भूषण सिंह के नाम पर सुर्खियां बनी हुई है। BJP में कभी भी कुछ भी उलटफेर हो सकता है। अब देखना यह है कि किसको पार्टी दावेदारी देती है। कैसरगंज के अबतक के राजनीतिक इतिहास में सबसे ज्यादा सपा और भाजपा ने पताका लहराया है। बसपा का यहां से एक बार भी खाता नहीं खुला है। इस बार भी सपा और BJP में आमने-सामने महामुकाबला होगा।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.