like-ghaziabad-and-jabalpur-ordnance-factories-should-be-run-in-kanpur-with-25-per-cent-employees-mla
like-ghaziabad-and-jabalpur-ordnance-factories-should-be-run-in-kanpur-with-25-per-cent-employees-mla

गाजियाबाद और जबलपुर की तरह कानपुर में भी 25 फीसद कर्मचारियों के साथ चलें आयुध फैक्ट्रियां : विधायक

— जिलाधिकारी से वार्ता कर विधायक ने कर्मचारियों को दिलाया आश्वासन कानपुर, 30 अप्रैल (हि.स.)। वैश्विक महामारी कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर कानपुर की आयुध फैक्ट्रियों के कर्मचारियों में भी भय का माहौल है। इसी के चलते शुक्रवार को कर्मचारियों का एक प्रतिनिधि मंडल भाजपा विधायक सुरेन्द्र मैथानी से मिला। कर्मचारियों की मांग पर विधायक ने जिलाधिकारी से वार्ता कर कहा कि गाजियाबाद और जबलपुर की तरह कानपुर में भी 25 फीसद कर्मचारियों के साथ आयुध फैक्ट्रियों में काम किया जाये। ओईएफ कानपुर मजदूर संघ का एक प्रतिनिधि मंडल गोविंद नगर के विधायक सुरेंद्र मैथानी के कार्यालय आकर एक ज्ञापन दिया। ज्ञापन के माध्यम से कर्मचारियों के हित में वर्तमान कोविड संक्रमण की परिस्थितियों के अनुसार,आयुध निर्माणी अंतर्गत 15000 कर्मचारियों से संख्या को घटाकर 25 फीसद संख्या से ही फैक्ट्री को चलाने की अपेक्षा की गई है। विधायक ने जिलाधिकारी को पत्र भेजकर एवं मौखिक रुप से वार्ता की। विधायक ने कहा कि जिलाधिकारी गाजियाबाद एवं जिलाधिकारी जबलपुर के द्वारा ऐसा आदेश किया गया है, जिसके अंतर्गत 25% कर्मचारियों से ही संस्थान को चलाया जाए। उसी आधार पर कानपुर में भी इस प्रकार के आदेश की आपसे जनहित में अपेक्षा है। विधायक ने कहा कि जबलपुर और गाजियाबाद से कोरोना संक्रमण कि ज्यादा विकट परिस्थिति कानपुर में है। जिसके कारण से हमारे आयुध निर्माणी में कार्य करने वाले कर्मचारी गणों एवं उनके परिवारी जनों में नित्य कोई ना कोई दुर्घटनाओं की खबर इस संक्रमण को लेकर प्राप्त हो रही है, जो दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद है। हिन्दुस्थान समाचार/अजय

Related Stories

No stories found.