कोविड की तीसरी लहर में जीएसवीएम में बढ़ेगें दो सौ बिस्तर, परीक्षण क्षमता में होगी बढ़ोत्तरी

gsvm-to-increase-two-hundred-beds-in-third-wave-of-kovid-test-capacity-will-be-increased
gsvm-to-increase-two-hundred-beds-in-third-wave-of-kovid-test-capacity-will-be-increased

— आक्सीजन आत्मनिर्भरता व बच्चों के लिए नए पीआईसीयू व एनआईसीयू बिस्तरों की होगी स्थापना कानपुर, 27 मई (हि.स.)। वैश्विक महामारी कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए जनपद में तैयारियां तेज कर दी गई हैं। इसके तहत जीएसवीएम मेडिकल कालेज में दो सौ बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जाएगी। इसके साथ ही परीक्षण क्षमता में भी बढ़ोत्तरी होगी, ताकि लोगों को बेहतर इलाज मिल सके। यह बातें गुरुवार को मंडलायुक्त डा. राजशेखर ने कही। मंडलायुक्त ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर स्थानीय प्रशासन कोविड की संभावित तीसरी लहर की तैयारियां तेज कर दी है। इसके लिए बिस्तरों की संख्या बढ़ाना, बच्चों के लिए नए पीआईसीयू और एनआईसीयू बिस्तरों की स्थापना करना, ऑक्सीजन आत्मनिर्भरता और कोविड परीक्षण की क्षमता बढ़ाने जैसे बिन्दुओं पर कार्य किया जा रहा है। बताया कि जीएसवीएम सरकार की प्रमुख संस्था है जहां कानपुर शहर और 10 से 12 पड़ोसी जिलों के मरीज इलाज के लिए आते हैं। कोविड की दूसरी लहर के दौरान जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में कोविड रोगियों के लिए उपलब्ध कराए गए बिस्तरों की कुल संख्या 425 थी। अब अग्रीम तैयारी के रुप में बच्चों के लिए 100 बिस्तर (50 बाल चिकित्सा आईसीयू और 50 ऑक्सीजन बिस्तर) और 100 अतिरिक्त बिस्तर (सर्जरी विंग में) अन्य वयस्क कोविड रोगियों के लिए तैयार किया जा रहा है। ऐसे में अब आगामी दिनो में कोविड की तीसरी लहर में मरीजों के लिए जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में कुल मिलाकर लगभग 625 बिस्तर उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके साथ कोविड के परीक्षण में अभी तक जीएसवीएम की परीक्षण क्षमता लगभग 3500 प्रति दिन है। आने वाले दिनों में इसे बढ़ाकर 5000 से 6000 प्रतिदिन किया जाएगा। आक्सीजन पर होगा आत्मनिर्भर मंडलायुक्त ने बताया कि अब तक जीएसवीएम को प्रतिदिन 16 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन की आपूर्ति की जाती है और अन्य 300 जंबो D2 सिलेंडर का उपयोग किया जाता है। अब अगले एक से दो माह में जीएसवीएम में 925 एलपीएम क्षमता के दो नए ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जाएंगे और साथ ही आने वाले महीनों में लिक्विड ऑक्सीजन की क्षमता 10 हजार लीटर से बढ़ाकर 30 हजार लीटर की जाएगी, जो जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में बढ़ी ऑक्सीजन की मांग को पूर्ति के लिए पर्याप्त होगी। हिन्दुस्थान समाचार/अजय

Related Stories

No stories found.