मुख्तार अंसारी का समर्थको की भारी भीड़ के बीच हुआ सुपुर्द-ए-ख़ाक, सुरक्षा के थे कड़े इंतजाम

Mukhtar Ansari: मुख्तार अंसारी के शव को उनके परिवारवालो की मौजूदगी में सुपुर्द-ए-खाक किया गया।
Mukhtar Ansari
Mukhtar Ansariraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। माफिया मुख्तार अंसारी को आज 30 मार्च 2024 को भारी सुरक्षा के बीच सुपुर्द-ए-ख़ाक कर दिया गया है। मुख्तार अंसारी के जनाजे को उसके समर्थको की भारी भीड़ और पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले के यूसूफपुर मोहम्मदाबाद के कालीबाग कब्रिस्तान में दफनाया गया। वहां सुरक्षा इतनी कड़ी कर रखी थी कि निगरानी के लिए ड्रोन कैमरे का इस्तेमाल किया गया। जहां माफिया मुख्तार अंसारी को दफनाया गया है, उसके बगल में ही उसके पिता सुभान उल्लाह अंसारी की कब्र है। मुख्तार अंसारी के शव को उनके परिवारवालो की मौजूदगी में सुपुर्द-ए-खाक किया गया।

अंसारी की मौत की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए है

मुख्तार अंसारी के परिवार वालो के आरोपो के बाद मुख्तार अंसारी की मौत की 29 मार्च 2024 को मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए है। उनके परिवार के आरोपों के अनुसार मुख्तार अंसारी को बांदा जेल में धीमा जहर दिया गया। जिससे उनकी मृत्यु हो गयी। उत्तर प्रदेश के बांदा के रानी दुर्गावती मेडिकल कॉलेज में मुख्तार अंसारी के शव का पोस्टमॉर्टम किया गया। मुख्तार अंसारी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट को अभी तक सार्वजनिक नहीं किया गया है। जब मुख्तार अंसारी की मृत्यु हुई थी उस समय उनकी मृत्यु का कारण दिल का दौरा पड़ना बताया गया था। जैसे ही पोस्टमॉर्टम की रिपोर्ट सार्वजनिक हो जायेगी, पूरी जानकारी सामने आ जायेगी।

भारी सुरक्षा के बीच मुख्तार के शव को उनके पैतृक निवास लाया गया था

मुख्तार अंसारी के शव का बांदा मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों के द्वारा पोस्टमॉर्टम करने के बाद, उनके शव को गाजीपुर जिले के मोहम्‍दाबाद यूसुफपुर में उनके पैतृक निवास ले जाया गया था। मुख्तार अंसारी के वकील नसीम हैदर के अनुसार उनके शव को मुख़्तार के छोटे बेटे उमर अंसारी, बहू निकहत अंसारी और दो चचेरे भाइयों के सुपुर्द किया गया। मुख्तार अंसारी के शव को पुलिस की 24 गाड़ियों के काफिलों के साथ उनके पैतृक निवास लाया गया था। उनके परिवार की दो गाड़ियां अलग थी।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.