कड़ी सुरक्षा के बीच सुपुर्द-ए-खाक किए गए अतीक और अशरफ के शव,जांच के लिये न्यायिक आयोग गठित

प्रयागराज में तीन हमलावरों की ताबड़तोड़ गोलियों का शिकार हुए माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ के शव को देर रात कसारी-मसारी कब्रिस्तान में कड़ी सुरक्षा के बीच सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया है।
File photo
File photo

प्रयागराज, एजेंसी। प्रयागराज में तीन हमलावरों की ताबड़तोड़ गोलियों का शिकार हुए माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ के शव को देर रात कसारी-मसारी कब्रिस्तान में कड़ी सुरक्षा के बीच सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया है।

सुपुर्द-ए-खाक के दौरान अतीक के रिश्तेदार रहें मौजूद

बता दें कि पोस्टमार्टम के बाद अतीक और अशरफ के शव शाम को करीब साढ़े छह बजे कब्रिस्तान लाया गया। इस दौरान अतीक के रिश्तेदार मौजूद रहें, लेकिन अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन मौजूद नहीं रहीं। वहां मौजूद अधिकारियों ने बताया कि रिश्तेदारों के अलावा अन्य लोगों को आधार कार्ड देखकर ही कब्रिस्तान में दाखिल होने दिया गया था।

अतीक और अशरफ के शव को बहनोई और दो रिश्तेदार लेकर पहुंचे थे कब्रिस्तान

अधिकारी ने बताया कि दोनों के शवों को अतीक का बहनोई और दो रिश्तेदार लेकर पहुंचे थे। परिवार की मौजूदगी में दोनों के शवों को सुपुर्द-ए-खाक किया गया। अतीक के बेटे असद की कब्र के पास दोनों की कब्र खुदवाई गई थीं। उन्होंने बताया कि दोनों शव पहुंचने के बाद उनके अंतिम संस्कार की रस्म शुरू की गई। इस दौरान कब्रिस्तान में कुछ महिलाएं भी मौजूद रहीं और पूरे कब्रिस्तान परिसर को छावनी में तब्दील कर दिया गया।

कई आला अधिकारी रहें मौजूद

शनिवार को हुए अतीक के बेटे असद के अंतिम संस्कार के दौरान तैनात पुलिस बल के मुकाबले रविवार को दोगुनी चौकसी रही। दंगा नियंत्रण वाहन भी बुलाया गया। बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी डीसीपी गंगानगर, डीसीपी सिटी और डीसीपी यमुनानगर समेत आला अधिकारी मौजूद रहें।

Related Stories

No stories found.