councilors-created-ruckus-over-problems-in-municipal-corporation-house-demonstrated-with-hand-pump
councilors-created-ruckus-over-problems-in-municipal-corporation-house-demonstrated-with-hand-pump

नगर निगम सदन में समस्याओं को लेकर पार्षदों ने काटा हंगामा, हैंडपंप लेकर किया प्रदर्शन

— पानी की समस्या को एकजुट दिखे पार्षद, घेरे गये जल निगम अधिकारी कानपुर, 15 जून (हि.स.)। नगर निगम के ग्रीष्मकालीन सत्र में मंगलवार को पार्षदों ने सदन में जमकर हंगामा किये। कोई पानी की समस्या को लेकर हंगामा कर रहा था तो कोई क्षेत्र में अस्पताल की समस्या को उठा रहा था। कुछ पार्षदों ने तो बढ़े हुए हाउस टैक्स को लेकर महापौर को घेरा। यही नहीं विपक्षी पार्षदों ने क्षेत्र में विकास कार्य न होने का आरोप महापौर पर मढ़ दिया। एक पार्षद ने तो जल निगम के अधिकारी को गंदे पानी की बोतलों की माला तक विरोध स्वरुप पहना दी। तो वही दूसरे पार्षद ने हैंडपंप लेकर विरोध जताया। महापौर प्रमिला पांडेय की मौजूदगी में मगंलवार को नगर निगम का सदन शुरु हुआ तो पार्षद नवीन पंडित ने जागेश्वर अस्पताल को चालू कराने के लिए मांग रखी। उन्होंने कहा कि चाचा नेहरु अस्पताल की तरह जागेश्वर अस्पताल चालू कराया जाए। इसके बाद उपसभापति कैलाश पांडे ने नगर निगम और जल कल का बजट पेश किया। बजट में विकास कार्यों में खर्च की बात सुनते ही पार्षदों ने हंगामा शुरू कर दिया। पार्षदों ने अफसरों पर विकास कार्य न कराने में लापरवाही का आरोप लगाया। हंगामे के बीच पार्षदों ने विकास कार्य न होने का आरोप लगाया। पार्षद जेपी सचान, अरविंद यादव मनोज पांडे राजीव सेतिया ने नाली, नाला और सड़क की समस्या से जनता के परेशान होने और विकास न होने पर नारेबाजी शुरू कर दी। इस बीच पार्षद जेपी सचान ने कुर्ता उतारकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। इसपर महपौर ने उन्हें फटकार लगाते हुए कहा कि सदन में महिलाएं बैठी हैं। आपकी ऐसी हरकत पर सदन से बाहर कर दिया जाएगा। सपा के लिए माहौल तैयार कर रहें अधिकारी सपा पार्षद सुहेल अहमद ने कहा कि विकास कार्य न होने से भले ही जनता को परेशानी से जूझना पड़ रहा है, लेकिन आने वाले चुनाव के लिए अधिकारी सपा के लिए अच्छा माहौल तैयार कर रहे हैं। सपा पार्षद दल के नेता ने कहा साढ़े तीन साल बाद भी विकास के नाम पर कुछ नहीं हुआ है। नाली खड़ंजा सड़क को बनवाने को लेकर पार्षद जूझ रहे हैं। कहा, स्मार्ट सिटी के नाम पर खर्च हुए करोड़ों रुपये कहां गए, इसकी जांच होनी चाहिए। ऐसे बजट से क्या फायदा जो केवल दिखावा हो। बढ़े टैक्स के मामले को ले जाएंगे कोर्ट सपा पार्षद सुहेल अहमद ने बढ़ा हुआ हाउस टैक्स 2016 से वसूले जाने पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि हम पार्षदों समेत जनता से 2016 से बढ़ा टैक्स वसूला जा रहा है। जबकि 2017 में नगर निगम का चुनाव लड़ते समय सभी पार्षदों को नगर निगम में कोई बकाया न होने की एनओसी दी गई थी। फिर अब 2016 से टैक्स बकाया दिखाकर एरियर कैसे वसूला जा रहा है। बढ़ा हुआ हाउस टैक्स की वसूली पूरी तरह से गलत है, ऐसे में या तो हाउस टैक्स का बकाया खत्म किया जाए या फिर एनओसी फर्जी दी गई है। उन्होंने कहा कि वह इस प्रकरण को कोर्ट में लेकर जाएंगे। उनके इस सवाल पर सदन में महापौर और अफसर भी कोई जवाब नहीं दे सके। वहीं शूटर गंज पार्षद मनोज पांडेय ने सदन में अनोखा हंगामा किया उन्होंने पेजल समस्या को लेकर बोला हल्ला। इसके साथ ही वह गंदे पानी की बोतलों को गले में टांग कर विरोध किया। इसके बाद पार्षद ने जल निगम अधिकारी को गंदे पानी वाली बोतल की माला पहना दी। हिन्दुस्थान समाचार/अजय

Related Stories

No stories found.