Lok Sabha Election: सांसद निरहुआ ने सपा को दी चुनौती, कहा- 'अखिलेश जहां से लड़ेंगे चुनाव, मैं वहीं से लड़ूंगा'

Azamgarh News: भाजपा सांसद दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ ने आज अखिलेश यादव को चुनौती दी है। उन्होंने आजमगढ़ में फिर भाजपा के आने का आहवाहन किया।
Akhilesh Yadav 
Nirahua
Akhilesh Yadav NirahuaRaftaar.in

आजमगढ़, हि.स। जिले में एक निजी कार्यक्रम में बुधवार को पहुंचे भाजपा सांसद दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ ने एक बार फिर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को चुनौती दी है। उन्होंने कहा कि अगर अखिलेश यादव आजमगढ़ से चुनाव नहीं लड़े तो वे जहां से चुनाव लड़ेंगे मैं वहीं से उनके खिलाफ चुनाव लड़ूंगा।

इस बार भी आजमगढ़ में भाजपा जीतेगी- निरहुआ

नगर के रोडवेज स्थित एक निजी पैथोलॉजी सेंटर का उद्घाटन करने के बाद भाजपा सांसद दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ ने कहा कि आजमगढ़ जिले में 1 साल में जितना काम हुआ है, उतना कार्य बीते सरकारों के जनप्रतिनिधियों ने कभी नहीं किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पिछले 10 वर्षों के कार्यकाल में देश में जितना कार्य हुआ है, उसको देखते हुए जो हमारा आजमगढ़ है अब वो यह तय कर चुका है कि वह सरकार के साथ ही अब रहने वाला है। इस बार भी आजमगढ़ में भाजपा जीतेगी।

सपा में रहना है तो राम मंदिर के खिलाफ बोलना पड़ेगा

सांसद निरहुआ ने कहा कि आने वाले लोकसभा चुनाव में एक बार फिर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बनने जा रहे हैं और आजमगढ़ जनता सरकार के साथ रहेगी। आजमगढ़ एयरपोर्ट का जल्द ही उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों होगा।
समाजवादी पार्टी के विधायकों द्वारा पाला बदलने को लेकर सांसद ने कहा कि यह सारी लड़ाई विचारधारा की है। हमें लगता है कि सपा में जो भी लोग काम कर रहे थे, वह एक चीज महसूस कर रहे थे कि अगर इस पार्टी में रहना तो राम मंदिर के खिलाफ बोलना पड़ेगा। राम के खिलाफ, वैक्सीन के खिलाफ, यहां तक कि देश की उपलब्धियों के खिलाफ भी बोलना होगा।

मोदी का विरोध करते-करते देश का विरोध करना सपा का मेनिफेस्टो हो चुका

उनका मनाना है कि प्रधानमंत्री मोदी का विरोध करते-करते देश का विरोध करना सपा के मेनिफेस्टो में हो चुका है, जो लोग भी यह चीज समझ रहे हैं वह लोग पार्टी को छोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि जो भी लोग देश को, जनता को मजबूत बनाना चाहते हैं इसलिए वे लोग भाजपा के साथ रहेंगे। वे सपा में नहीं रह पाएंगे क्योंकि जिस पार्टी में रहने के बाद अपने ही धर्म और भगवान का विरोध उन्हें करना पड़ेगा।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.