ability-and-attitude-are-necessary-to-succeed-in-life-and-business-sudhansu-vats
ability-and-attitude-are-necessary-to-succeed-in-life-and-business-sudhansu-vats

जीवन व व्यवसाय में सफल होने के लिए जरुरी है योग्यता और मनोभाव: सुधांसु वत्स

जीवन व व्यवसाय में सफल होने के लिए जरुरी है योग्यता और मनोभाव: सुधांसु वत्स - लोगों को साथ लेकर चलने की क्षमता बनाती है नेता कानपुर, 25 अप्रैल (हि.स.)। योग्यता और मनोभाव एक साइकिल के दो पहिए हैं और आपको जीवन व व्यवसाय में सफल होने के लिए दोनों की आवश्यकता है। जीवन में ऐसे कदम उठाएं जो राइट हैं और आपको अपने दिल से महसूस करना चाहिए कि निर्णय सही है। अच्छी कंपनियां लोगों के माध्यम से ही अपनी पहुंच बनाती हैं और लोगों को साथ लेकर चलने की आपकी क्षमता ही आपको नेता बनाती है। यह बातें रविवार को कानपुर आईआईटी के प्रथम वर्ष के छात्रों को संबोधित करते हुए ईपीएल लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और सीईओ सुधांशु वत्स ने कही। आईआईटी कानपुर के छात्रों को अपने संबोधन में सुधांशु वत्स ने कहा कि आईआईटी कानपुर एक आकर्षक संस्थान है और सर्वश्रेष्ठ आईआईटी में से एक है। मुझे आईआईटी में आने का मौका नहीं मिला और मैंने एनआईटी कुरुक्षेत्र से इंजीनियरिंग की। मेरा जन्म कोटा शहर, राजस्थान में हुआ था जो कि उस वक्त एक छोटा कस्बा हुआ करता था। उन्होंने कहा कि सफल जीवन और व्यवसाय के लिए विश्वास और आस्था बहुत जरुरी है। आप दूसरों पर और खुद पर भरोसा रखें। इस जीवन में जीतने के लिए आपको योग्यता और एटीट्यूड का मिश्रण चाहिए। आप सभी के पास पर्याप्त योग्यता है इसलिए आप आईआईटी में हैं। समावेशित होने की आपकी क्षमता, बुद्धि के साथ आपके मनोभाव और मूल्य आपको वास्तविक जीवन में विजेता बनाएगी। योग्यता और मनोभाव एक साइकिल के दो पहिए हैं और आपको जीवन और व्यवसाय में सफल होने के लिए दोनों की आवश्यकता है। जीवन में ऐसे कदम उठाएं जो राइट हैं और आपको अपने दिल से महसूस करना चाहिए कि निर्णय सही है। अच्छी कंपनियां लोगों के माध्यम से ही अपनी पहुंच बनाती हैं और लोगों को साथ लेकर चलने की आपकी क्षमता ही आपको नेता बनाती है। जीवन का पाठ है दौड़ना उन्होंने कहा कि दौड़ना जीवन जीने का एक तरीका है और मैं दुनिया भर में मैराथन दौड़ता हूं। जीवन एक मैराथन है न कि एक कम दूरी की तेज दौड ़(स्प्रिंट)। जैसे आप दौड़ते हैं तो, आप सहनशक्ति विकसित करते हैं, दौड़ना एक जीवन का पाठ है, सबक है। मैराथन, जीवन की तरह लंबे समय तक चलने की शक्ति है। आप आईआईटी में आ गए हैं, लेकिन आगे बढ़ने के लिए एक लंबी यात्रा है और हालांकि आप दूसरों के साथ चल रहे हैं, लेकिन वास्तव में आप अपनी खुद की दौड़ लगा रहे हैं, आप कैसे दौड़ रहे हैं, इसके बारे में बेहतर हो रहे हैं, अपनी खुद की टाइमिंग में सुधार कर रहे हैं। मैंने एचयूएल को छोड़ने के जो साथ सीखा, उसे मैंने यहां लागू किया। संगठनों के बुनियादी ढांचे, भवन प्रबंधन प्रणाली और संस्कृति आम हैं। यह एक व्यवसाय मॉडल है जो अलग है और आपको इसे चलाने की आवश्यकता है। इसलिए एक लीडर के रुप में आपको किसी और चीज से ज्यादा लीडरशिप स्किल की जरूरत होती है। कर्नल अशोक मोर ने किया स्वागत आईआईटी कानपुर में एनसीसी, ऑफिसर-इन-चार्ज, कर्नल अशोक मोर अतिथि वक्ता का स्वागत करते हुए ईपीएल लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और सीईओ सुधांशु वत्स के बारे में छोटा सा परिचय दिया। कर्नल अशोक मोर ने बताया कि सुधांशु वत्स एमएनएसएस राय के पूर्व छात्र हैं। सुधांशु वत्स ने एनआईटी कुरुक्षेत्र से बी.टेक (मैकेनिकल) और आईआईएम अहमदाबाद से पीजीडीएम किया है। हिन्दुस्थान समाचार/अजय

Related Stories

No stories found.