तमिलनाडुः MDMK सांसद गणेशमूर्ति की हार्ट अटैक से मौत, कुछ दिन पहले की थी आत्महत्या की कोशिश

MP Attempted Suicide: तमिलनाडु के इरोड से वर्तमान MDMK सांसद ए गणेशमूर्ति की 76 वर्ष की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गयी है।
 A Ganeshamoorthy
A Ganeshamoorthyraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। तमिलनाडु के इरोड से वर्तमान MDMK सांसद ए गणेशमूर्ति, की आज(28 मार्च 2024) को सुबह दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गयी। उन्होंने कुछ दिन पहले ही आत्महत्या का प्रयास किया था और कीटनाशक पी लिया था। जिसके बाद उन्हें तुरंत हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार मरुमलारची द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एमडीएमके) के सांसद ए गणेशमूर्ति, जिन्होंने कुछ दिन पहले ही कीटनाशक पी कर आत्महत्या की कोशिश की थी। उनकी गुरुवार सुबह दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गयी है।

उनकी मृत्यु आज सुबह 5 बजे एक प्राइवेट हॉस्पिटल में दिल का दौरा पड़ने से हुई

तमिलनाडु के इरोड से वर्तमान MDMK सांसद गणेशमूर्ति की 76 वर्ष की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गयी है। मिली जानकारी के अनुसार उनकी मृत्यु आज सुबह 5 बजे एक प्राइवेट हॉस्पिटल में दिल का दौरा पड़ने से हुई। उन्हें 24 मार्च को बेचैनी हुई और उल्टी हुई। जिसके बाद उनके परिवार के सदस्यों ने उन्हें इरोड के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया। वह तमिलनाडु के इरोड से 2019 के लोकसभा चुनाव में डीएमके के टिकट पर चुने गए थे।

सांसद ने अपने परिवार के सदस्यों को बताया कि उन्होंने कीटनाशक खा लिया है

एक अन्य समाचार एजेंसी के अनुसार जांच के बाद उन्हें ICU में भर्ती कराया गया था और वेंटिलेटर पर रखा गया। जानकारी के अनुसार सांसद गणेशमूर्ति ने अपने परिवार के सदस्यों को बताया कि उन्होंने कीटनाशक खा लिया है। उनको दो डॉक्टरों और उनके परिवार के सदस्यों के साथ एक एम्बुलेंस में कोयंबटूर के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया था। जहां इलाज के दौरान उनकी दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गयी।

आत्महत्या किसी समस्या का समाधान नहीं है

आत्महत्या किसी समस्या का समाधान नहीं है। जब भी जीवन में कभी उतार चढाव आये तो उसका समझदारी से सामना करते हुए। फिर से खड़ा होना चाहिए। हमारे जीवन के साथ हमारे परिवार का जीवन भी जुड़ा होता है। इसलिए गलत कदम उठाने से पहले दस बार उनके बारे में सोचना चाहिए। उस समय हमे बहुत ही शांति के साथ सकारात्मकता से अपना निर्णय लेना चाहिए। धीरे धीरे समय बीतने के बाद सब कुछ सही हो जाता है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.