सीएम स्टालिन ने कहा- देश कितने झूठ सहन कर सकता है, BJP बोली- CM सिर्फ विज्ञापनों के आधार पर चला रहे अपनी सरकार

M. K. Stalin: मुख्यमंत्री स्टालिन ने एक अपने लंबे सोशल मीडिया पोस्ट में भाजपा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ जमकर हमला बोला।
M. K. Stalin
M. K. Stalinraftaar.in

चेन्नई (तमिलनाडु), (हि.स.)। केंद्र सरकार के 2014 के बाद से तमिलनाडु के विकास के लिए 10.76 लाख करोड़ रुपये आवंटित करने के बयानों को “सरासर झूठ” करार देते हुए मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने भाजपा सरकार पर “तमिलनाडु को दी गई धनराशि की सूची में जोड़ने” का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जिन्हें केंद्र ने जारी हीं नहीं किया है। इस मामले में स्टालिन ने आरोप लगाया कि चेन्नई मेट्रो जैसी विभिन्न परियोजनाओं को क्रियान्वित करने के लिए राज्य सरकार की हिस्सेदारी को भी केंद्र ने अपनी सूची में डाल दिया है।

तमिलनाडु के लिए केंद्र ने कितनी धनराशि जारी की है

मुख्यमंत्री स्टालिन ने एक अपने लंबे सोशल मीडिया पोस्ट में भाजपा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ जमकर हमला बोला। उन्होंने बड़े ही कड़े शब्दों में कहा कि क्या कोई केंद्रीय मंत्री यह बताने के लिए आगे आएगा कि तमिलनाडु के लिए केंद्र ने कितनी धनराशि जारी की है और कितनी जारी की जानी बाकी है। स्टालिन ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकारों को सीधे धन जारी करने के मामले में तमिलनाडु, जो योगदान दिया गया है, वह उत्तर प्रदेश को आवंटित धनराशि 18.5 लाख करोड़ रुपये के तुलना में मात्र 5.5 लाख करोड़ रुपये मिले।

देश कितने झूठ सहन कर सकता है ?

उन्होंने केंद्र पर आरोप लगाते हुए कहा, “तमिलनाडु में सीधे केंद्र सरकार के खर्च के घटक के तहत कई झूठे आंकड़े दिखाए गए हैं। उनका कहना है कि एम्स के निर्माण के लिए 1,960 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं, जहां एक ईंट भी नहीं रखी गई है। चेन्नई मेट्रो के दूसरे चरण के लिए 63,246 करोड़ रुपये दिखाए गए हैं, जिसके लिए भी एक रुपया जारी नहीं किया गया है।” देश कितने झूठ सहन कर सकता है ? कृपया हमारे ऊपर दया करें।"

लोग इस झूठ पर विश्वास नहीं करेंगे

मुख्यमंत्री के इस बयान पर तमिलनाडु भाजपा प्रमुख के. अन्नामलाई ने कहा कि मुख्यमंत्री तीन साल तक "खाली विज्ञापनों के आधार पर" अपनी सरकार चला रहे थे, अचानक अब "घबरा गए" हैं क्योंकि लोगों को जारी की गई राशि और परियोजनाओं के बारे में पता चल गया है। अन्नामलाई ने कहा कि मुख्यमंत्री के बेटे उदयनिधि हर सार्वजनिक बैठक में कहते हैं कि केंद्र राज्य सरकार द्वारा भेजे गए धनराशि से 1.7 लाख करोड़ रुपये आवंटित किए हैं, लेकिन उनके पिता कहते हैं कि केंद्र सरकार ने मात्र 5.5 लाख करोड़ रुपये दिए हैं। अन्नामलाई ने कहा कि उन्हें बैठकर एक रकम तय करनी चाहिए कि क्या बोलें ? लोग इस झूठ पर विश्वास नहीं करेंगे।

द्रमुक इन योजनाओं पर द्रमुक अपना स्टिकर नहीं चिपका सकती

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार राजमार्गों, रेलवे स्टेशनों, बंदरगाहों और हवाई अड्डों को बेहतर बनाने पर सैकड़ों करोड़ रुपये खर्च कर रही है। उन्होंने कहा, "सिर्फ इसलिए कि द्रमुक इन योजनाओं पर द्रमुक अपना स्टिकर नहीं चिपका सकती, इसका मतलब यह नहीं है कि केंद्र सरकार धन जारी नहीं कर रही है।" उन्होंने यह भी जानना चाहा कि क्या स्टालिन 2021 के चुनावों के दौरान डीएमके द्वारा वादा किए गए 3.5 लाख नौकरियों दिए , मुख्यमंत्री को बतानी चाहिए।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.