Tamil Nadu: साउथ फिल्मों के सुपरस्टार और DMDK फाउंडर विजयकांत का हुआ निधन, PM मोदी सहित कई नेताओं ने जताया दुख

Chennai: देसिया मुरपोक्कू द्रविड़ कड़गम (डीएमडीके) नेता विजयकांत का आज निधन हो गया। हाल ही में तबीयत बिगड़ने के बाद उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।
DMDK Founder Vijaykanth
DMDK Founder Vijaykanth Raftaar.in

चेन्नई, हि.स.। देसिया मुरपोक्कू द्रविड़ कड़गम (डीएमडीके) नेता विजयकांत का आज निधन हो गया। हाल ही में तबीयत बिगड़ने के बाद उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। पार्टी की तरफ से जानकारी दी गई थी कि सांस लेने में तकलीफ के कारण विजयकांत को वेंटिलेटर पर रखा गया था।

विजयकांत का परिचय

विजयकांत का असली नाम विजयराज था और अभिनय की दुनिया में काफी शोहरत पाने के बाद उन्होंने राजनीति में कदम रखा। उन्होंने कई तमिल फिल्मों में अभिनय किया और कई फिल्मों का निर्देशन भी किया था। 2005 में उन्होंने देसिया मुरपोक्कू द्रविड़ कड़गम (डीएमडीके) नाम से खुद की राजनीतिक पार्टी बनाई। वे 2011 से 2016 तक तमिलनाडु में विपक्ष के नेता रहे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जताया दुख

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज सोशल मीडिया एक्स पर अपने संदेश में कहा "थिरू विजयकांत जी के निधन से अत्यंत दुख हुआ। तमिल फिल्म जगत के एक दिग्गज, उनके करिश्माई प्रदर्शन ने लाखों लोगों का दिल जीत लिया। एक राजनीतिक नेता के रूप में वह सार्वजनिक सेवा के प्रति गहराई से प्रतिबद्ध थे, जिसने तमिलनाडु के राजनीतिक परिदृश्य पर गहरा प्रभाव छोड़ा। उनका निधन एक खालीपन छोड़ गया है जिसे भरना मुश्किल होगा। वह एक घनिष्ठ मित्र थे और मैं वर्षों से उनके साथ अपनी बातचीत को याद करता हूं। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार, प्रशंसकों और असंख्य अनुयायियों के साथ हैं। ओम शांति।"

राहुल गांधी ने भी जताया दुख

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि "डीएमडीके संस्थापक, थिरू विजयकांत जी के निधन से गहरा दुख हुआ। सिनेमा और राजनीति में उनके योगदान ने लाखों लोगों के दिलों पर अमिट छाप छोड़ी है। इस कठिन समय में उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति हार्दिक संवेदना।"

एमके स्टालिन ने जताया शोक

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने शोक जताते हुए कहा कि अभिनेता और डीएमडीके प्रमुख कैप्टन विजयकांत का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.