kota-thermal-handed-over-56-thousand-kg-of-dry-wood-for-cremation
kota-thermal-handed-over-56-thousand-kg-of-dry-wood-for-cremation

कोटा थर्मल ने दाह संस्कार के लिये 56 हजार किलो सूखी लकड़ियां सौंपी

मई माह में थर्मल प्रशासन द्वारा शहर के मुक्तिधामों के लिये नगर निगम को निःशुल्क सहयोग कोटा, 28 मई (हि.स.)। कोरोना महामारी में राज्य सरकार के निःशुल्क अंतिम संस्कार अभियान के तहत कोटा सुपर थर्मल पावर स्टेशन द्वारा इस माह शुक्रवार तक नगर निगम को 56 हजार किलो सूखी लकड़ियों का निशुल्क सहयोग किया गया है। थर्मल प्रशासन ने सामाजिक सरोकार के तहत यह योगदान किया है। थर्मल के प्लांट परिसर में लंबे समय से आंधी के दौरान टूटे पेडों की सूखी लकडियों को एकत्रित किया गया। इनके समुचित निस्तारण के लिये जिला कलेक्टर उज्जवल राठौड को पत्र भेजकर दिशानिर्देश देने का आग्रह किया था। जिला कलेक्टर ने नगर निगम की आयुक्त कीर्ति राठौर व लाडपुरा तहसीलदार को निर्देश दिये थे कि वे कोटा थर्मल से एकत्रित सूखी लकड़ियों को शहर के मुक्तिधामों तक पहुंचाने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। इसके पश्चात् नगर निगम अधिकारियों ने लकड़ियों को कोटा उत्तर एवं दक्षिण के मुक्तिधामों तक पहुंचाने के लिये वाहनों की व्यवस्था की। कोटा थर्मल ने अब तक 23 ट्रकों में 56 हजार किलो (56 मिट्रिक टन) सूखी लकडियां भेजकर शहरवासियों को सहायता पहुंचाई। शहर के नागरिक संगठनों ने कोरोना महामारी में ‘संकट मोचक’ कोटा थर्मल द्वारा की जा रही इस मानवीय पहल को अमूल्य सहयोग बताया। कोटा थर्मल प्रशासन द्वारा प्लांट परिसर में सघन वृक्षारोपण होने से लंबे समय से आंधी-तूफान में टूटे लगभग 200 पेडों की सूखी लकड़ियों को नियमित रूप से एकत्रित किया जा रहा हैं, जिनका उपयोग कोरोना पीडितों के निशुल्क अंतिम संस्कार में किया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/अरविंद / ईश्वर

Related Stories

No stories found.