Lok Sabha Election: होलाष्टक ने अटकाए नामांकन, शुभ मुहूर्त के इंतजार में लटके कई नेताओं के टिकट

Rajasthan News: निर्वाचन आयोग द्वारा जारी किए गए लोकसभा चुनाव 2024 के कार्यक्रम के मुताबिक, पहले चरण में 19 अप्रैल को राजस्थान में होगा। करौली-धौलपुर से अबतक किसी प्रत्याशी ने नामांकन नहीं भरा।
Lok Sabha Election
Lok Sabha ElectionRaftaar.in

धौलपुर, प्रदीप कुमार वर्मा, हि.स.। लोकसभा चुनाव के पहले चरण में राजस्थान की 11 सीटों सहित करौली-धौलपुर लोकसभा सीट पर प्रथम चरण में 19 अप्रैल को मतदान होगा। चुनाव संबंधी अधिसूचना भी 20 मार्च को जारी हो चुकी है। लेकिन 3 दिन बीतने के बाद भी करौली-धौलपुर लोकसभा सीट पर किसी भी प्रत्याशी ने कोई भी नामांकन नहीं भरा है।

होलाष्टक समाप्त होने के बाद भरेंगे नामांकन

यही नहीं मरुधरा में अब तक पहले चरण की 11 सीटों में से सिर्फ 7 सीटों पर भी मात्र 10 नामांकन ही भरे जा सके हैं। ज्योतिष की जानकारों का कहना है कि "होलाष्टक" लगने के कारण ही अभी प्रत्याशी नामांकन भरने से बच रहे हैं और शुभ मुहूर्त के इंतजार में है। ऐसा माना जा रहा है की होली के त्यौहार के समाप्त होने के बाद होलाष्टक भी समाप्त हो जाएंगे और मुहूर्त के हिसाब से नामांकन भरने के काम में तेजी आएगी। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी किए गए लोकसभा चुनाव 2024 के कार्यक्रम के मुताबिक, पहले चरण में 19 अप्रैल को राजस्थान की कुल 25 लोकसभा सीटों में से 11 लोकसभा सीटों के लिए मतदान होगा। इनमें करौली-धौलपुर के अलावा श्रीगंगानगर, बीकानेर, चूरू, झुंझुनू, सीकर, जयपुर ग्रामीण, जयपुर, अलवर, भरतपुर तथा दौसा लोकसभा सीट शामिल हैं।

20 मार्च शुरु हुई नामांकन प्रक्रिया

लोकसभा चुनाव के लिए 20 मार्च से चल रही नामांकन प्रक्रिया में 22 मार्च तक नामांकन के पहले 3 दिनों में कुल 10 नामांकन भरे गए हैं। इनमें जयपुर में सर्वाधिक तीन, जयपुर ग्रामीण में दो तथा गंगानगर, बीकानेर, सीकर, झुंझुनू और दौसा में मात्र एक-एक नामांकन भरा गया है। भरतपुर संभाग के तहत आने वाली करौली-धौलपुर के साथ-साथ चूरू,अलवर तथा भरतपुर लोकसभा सीट पर अभी तक किसी भी प्रत्याशी ने कोई नामांकन नहीं भरा है।

इस कारण नहीं करे नामांकन

वैदिक विधान एवं ज्योतिषशास्त्र के जानकार पंडित श्यामसुंदर शर्मा बताते हैं कि होलाष्टक का अर्थ है होली के पहले के 8 दिन। होलाष्टक की शुरुआत फागुन शुक्ल पक्ष की अष्टमी से होती है और इसका समपादन होलिका दहन के साथ होता है। इस वर्ष होलाष्टक की शुरुआत 17 मार्च से हो चुकी है और यह 24 मार्च को होलिका दहन के साथ संपन्न होगी। वैदिक परंपरा के मुताबिक को होलाष्टक के दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं होता है। संभवत है इसलिए ही लोकसभा चुनाव के प्रत्याशी नामांकन दाखिल करने से बच रहे हैं। शर्मा ने बताया कि लोकसभा चुनाव में नामांकन भरने से लेकर मतगणना और परिणाम तक का विशेष महत्व रहता है। इसलिए नामांकन का शुभ कार्य प्रत्याशी शुभ मुहूर्त में करना चाहते हैं। शर्मा ने बताया कि अब शुभ मुहूर्त 26 एवं 27 मार्च को पड़ रहा है और संभवतः इसी दिन सबसे ज्यादा प्रत्याशी लोकसभा चुनाव के लिए अपना नामांकन करेंगे।

यह है नामांकन का घोषित कार्यक्रम

करौली-धौलपुर के उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजवीर सिंह चौधरी ने बताया कि करौली-धौलपुर लोकसभा सीट के लिए 19 अप्रैल को मतदान होगा। जिसके लिए नाम निर्देशन दाखिल करने की अधिसूचना 20 मार्च को जारी हो चुकी है और नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 27 मार्च को है। नाम निर्देशन पत्र दाखिल हेतु नियत तिथियां के दौरान 3 दिन का अवकाश रहेगा, जिसमें प्रत्याशी नाम निर्देशन पत्र दाखिल नहीं कर सकेंगे। जिनमें पराक्रम्य लिखित अधिनियम 1881 के तहत 23 मार्च चतुर्थ शनिवार एवं 24 मार्च रविवार को अवकाश रहेगा। वित्त विभाग की अधिसूचना अनुसार 25 मार्च सोमवार को धूलंडी के कारण सार्वजनिक अवकाश रहेगा। उन्होने बताया कि नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा की तिथि 28 मार्च, नाम वापसी की अंतिम तिथि 30 मार्च है। लोकसभा सीट के लिए मतदान 19 अप्रैल को होगा और मतगणना की तिथि 4 जून निर्धारित है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.