Punjab Sadak Surkasha: सड़क हादसों पर काबू पाने को पंजाब में 'सड़क सुरक्षा फोर्स' की शुरुआत

Punjab Sadak Surakhya Force: पंजाब में सड़क हादसे में जान बचाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने देश की पहली ‘सड़क सुरक्षा फोर्स’ के 129 हाई-टैक वाहनों को झंडी दिखाकर रवाना किया।
Punjab Sadak Surakhya Force
Punjab Sadak Surakhya ForceRaftaar

जालंधर, (हि.स.)। पंजाब में सड़क हादसे घटाकर सालाना 3000 के करीब बहुमूल्य मानवीय जानें बचाने के उद्देश्य से पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने आज देश की पहली ‘सड़क सुरक्षा फोर्स’ के 129 हाई-टैक वाहनों को झंडी दिखाकर रवाना किया।

पंजाब के लिए आज यह ऐतिहासिक पल

पी.ए.पी. ग्राउंड में इस फोर्स की शुरुआत करने के लिए आयोजित किए गए समारोह के दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब के लिए आज यह ऐतिहासिक पल है क्योंकि लोगों को सुरक्षित रखने के लिए समर्पित फोर्स की शुरुआत करने वाला पंजाब पहला राज्य बन गया है जिससे लोगों की जान बचाई जा सकेगी।

लोक सभा में सडक़ हादसों का मुद्दा ज़ोरदार ढंग से उठाया था

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस फोर्स के गठन का विचार रातों-रात नहीं आया, बल्कि इस गंभीर समस्या के गंभीर स्व- आलोचना का नतीजा है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि संसद मैंबर के तौर पर उन्होंने लोक सभा में सडक़ हादसों का मुद्दा ज़ोरदार ढंग से उठाया था, क्योंकि इन हादसों के कारण राज्य में रोज़ाना 12 मौतें होती थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस फोर्स के गठन से पुलिस के जवान अपनी पुलिस ड्यूटी को और अधिक प्रभावशाली ढंग से निभा सकेंगे।

हर महीने के बाद आंकड़े लोगों के साथ साझे किए जाएंगे

भगवंत सिंह मान ने कहा कि एसएसएफ आम व्यक्ति की जान बचाने के लिए अहम भूमिका निभाएगी और अब से एसएसएफ के कामकाज की पड़ताल करने के लिए हर महीने के आंकड़ों से अध्ययन किया जाएगा और हर महीने के बाद आंकड़े लोगों के साथ साझे किए जाएंगे।

यह बहुत ही गर्व और संतुष्टी की बात है- भगवंत सिंह मान

मुख्यमंत्री ने कहा कि ड्राइविंग लाइसेंसों के लिए भी प्वाइंट्स की व्यवस्था की जाएगी, जिससे आने वाले समय में बार-बार उल्लंघन करने वालों को उनके ड्राइविंग लाइसेंस रद्द करके सजा दी जा सके। उन्होंने कहा कि यह समय की ज़रूरत है कि लोग ट्रैफिक़ नियमों की पालना करने के साथ-साथ वाहनों की यातायात को सुचारू बनाया जाए। भगवंत सिंह मान ने कहा कि यह बहुत ही गर्व और संतुष्टी की बात है कि बड़ी संख्या में लड़कियां पुलिस फोर्स में शामिल हो रही हैं और एस.एस.एफ. के वाहनों के 90 चालक भी लड़कियां हैं।

पंजाब में यातायात और सड़कीय ढांचे में महत्वपूर्ण विस्तार हुआ

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह फोर्स 5500 किलोमीटर राज्य और राष्ट्रीय मार्गों को कवर करने के लिए सड़क सुरक्षा योजना शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि पंजाब में पिछले कुछ दशकों के दौरान यातायात और सड़कीय ढांचे में महत्वपूर्ण विस्तार हुआ है। भगवंत सिंह मान ने चिंता ज़ाहिर की कि 65 प्रतिशत सड़कीय मौतें राष्ट्रीय और राज्य मार्गों पर घटती हैं।

एक 30 किलोमीटर की दूरी को कवर करेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि शराब पीकर गाड़ी चलाने और तेज रफ़्तार वाहन को रोकने के लिए विशेष साजो-सामान से लैस 129 पैट्रोलिंग वाहन (गश्त करने वाले वाहन) इन रूटों पर तैनात किए जाएंगे और वाहन हरेक 30 किलोमीटर की दूरी को कवर करेगा। उन्होंने कहा कि नए भर्ती हुए पुलिस कर्मचारियों में से जिन पुलिस कर्मचारियों को उचित प्रशिक्षण दिया गया है, को सड़क सुरक्षा फोर्स में तैनात किया जा रहा है।

सड़क हादसों में रोज़ाना 14 के करीब कीमती जानें चली जाती हैं- मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब में घटते सड़क हादसों में रोज़ाना 14 के करीब कीमती जानें चली जाती हैं। उन्होंने कहा कि सड़कों की सुचारू व्यवस्था करके इन कारणों की जांच की जा सकती है जिसके लिए पंजाब पुलिस में ‘सड़क सुरक्षा फोर्स’ गठित की गई है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.