Loksabha Election: ओडिशा में BJP-BJD गठबंधन में कहां नहीं बनी बात? जानें दोनों क्यों नहीं आए एक साथ

Loksabha Election: लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर भाजपा बहुत सतर्क है, वह किसी भी हाल में इस चुनाव में पीछे नहीं रहना चाहते हैं।
JP Nadda and Naveen Patnaik
JP Nadda and Naveen Patnaikraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर भाजपा बहुत सतर्क है, वह किसी भी हाल में इस चुनाव में पीछे नहीं रहना चाहते हैं। इस लोकसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत से केंद्र की सत्ता में फिर से वापस आने के लिए भाजपा ने बड़ी रणनीति के तहत कार्य किया है। भाजपा इसके लिए गठबंधन बनाने से भी नहीं चूक रही है। बीजेपी ओडिशा में भी बीजेडी के साथ गठबंधन करने के लिए तैयार थी। लेकिन दोनों ही दल सीट शेयरिंग के मामले में फंस गए है। दरअसल दोनों ही दल अधिक सीट की मांग कर रहे हैं।

जिसके कारण BJP ने अकेले ही चुनाव लड़ने की बात कही है

BJD जहां ओडिशा की 21 लोकसभा सीटों में से 14 सीटों पर चुनाव लड़ना चाह रही है। वहीं BJP इसके लिए बिलकुल भी तैयार नहीं है। भाजपा ने दावा किया है कि गठबंधन कि कोई बात नहीं हुई है और BJP अकेले ही चुनाव लड़ेगी। भाजपा के इस दावे से साफ हो गया है कि ओडिशा में नवीन पटनायक की पार्टी बीजू जनता दल (बीजेडी) से भाजपा का गठबंधन नहीं हो पाया है। जिसके कारण BJP ने अकेले ही चुनाव लड़ने की बात कही है। जो कि राजनीतिक गलियारे में चर्चा का विषय बनी हुई है।

अब दोनों ही दल आगामी विधानसभा और लोकसभा के चुनाव अकेले दम पर लड़ेंगे

ओडिशा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनमोहन सामल बीजेडी के साथ गठबंधन को लेकर दिल्ली में हुई बैठक के बाद वापस अपने राज्य चले गए हैं। उनकी बातों से स्पष्ट है कि दिल्ली में BJP -BJD की बैठक बेनतीजा रही है। दोनों दल अपनी अपनी मांगों में अड़े रहे हैं। दोनों की सीट शेयरिंग को लेकर बात नहीं बन पायी है। जिसके कारण भाजपा ने अकेले ही चुनाव लड़ने की बात कही है। अब दोनों ही दल आगामी विधानसभा और लोकसभा के चुनाव अकेले दम पर लड़ेंगे।

उन्होंने भाजपा के साथ गठबंधन को लेकर चुप्पी साधी हुई है

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार BJD आगामी विधानसभा चुनाव में भी अधिक सीटों की मांग कर रही थी। BJD ओडिशा की 147 विधानसभा सीटों में से 100 से अधिक सीटों में चुनाव लड़ना चाहती थी। जिसको भाजपा ने स्वीकार नहीं किया। बीजेडी नेता वीके पांडियन और प्रणब प्रकाश दास दिल्ली की बैठक के बाद वापस अपने राज्य ओडिशा पहुंच गए हैं। उन्होंने भाजपा के साथ गठबंधन को लेकर चुप्पी साधी हुई है। वहीं भाजपा इसको लेकर खुलकर चर्चा कर रही है और कह रही है कि अपने दम पर आगामी लोकसभा चुनाव लड़ेंगे।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.