सुबह नौ बजे तक मेघालय में 11.84, नगालैंड में 14.43 फीसद मतदान

पूर्वोत्तर के दो पहाड़ी राज्य मेघालय और नगालैंड में सोमवार सुबह 7 बजे कड़ी सुरक्षा के बीच 60 में से 59-59 सीटों पर मतदान शुरू हो गया।
voting booth
voting booth

शिलांग, एजेंसी। पूर्वोत्तर के दो पहाड़ी राज्य मेघालय और नगालैंड में सोमवार सुबह 7 बजे कड़ी सुरक्षा के बीच 60 में से 59-59 सीटों पर मतदान शुरू हो गया। चुनाव आयोग के मुताबिक सुबह 9 बजे तक मेघालय में 11.84 तथा नगालैंड में 14.43 प्रतिशत वोटिंग हुई है।


आयोग के मुताबिक मेघालय में 21 लाख 64 हजार 973 और नगालैंड में 13 लाख 17 हजार 634 मतदाता हैं। इनमें मेघालय में सर्विस वोटर 3844 और नगालैंड में 7983 हैं। इसी तरह मेघालय में 28,117 और नगालैंड में 24,689 नए मतदाता हैं। दिव्यांग मतदाता मेघालय में 7478 और नगालैंड में 6970 हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि नगालैंड में थर्ड जेंडर मतदाता नहीं है, लेकिन मेघालय में 2 थर्ड जेंडर वोटर हैं। वहीं मेघालय में 22,663 और नगालैंड में 36,403 ऐसे वोटर हैं, जिनकी उम्र 80 साल से अधिक है।

चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, 2018 के विधानसभा चुनाव में मेघालय में 3083 मतदान केंद्र थे। 2023 के विधानसभा चुनाव में 3482 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इसी तरह, नगालैंड में 2018 में 2194 मतदान केंद्र थे। 2023 के विधानसभा चुनाव में 2315 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

मेघालय की 60 विधानसभा सीटों में से 55 सीट जनजाति के लिए आरक्षित हैं। एक सीट पर उम्मीदवार के निधन के बाद मतदान को रद्द कर दिया गया है। दूसरी ओर, नगालैंड की 60 विधानसभा सीटों में से 59 आदिवासियों के लिए आरक्षित हैं। उन दोनों राज्यों में अनुसूचित जनजातियों के लिए कोई सीट आरक्षित नहीं है। नगालैंड में भी 59 सीटों पर चुनाव कराए जा रहे हैं। एक सीट पर उम्मीदवार निर्विरोध चुनाव जीत चुके हैं।

चुनाव आयोग के मुताबिक मेघालय में विधानसभा चुनाव के लिए केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की 119 और नगालैंड में 305 कंपनियां तैनात की गई हैं। एनपीपी वर्तमान में मेघालय में सत्ता में है और एनडीपीपी नगालैंड में सत्ता में है।

Related Stories

No stories found.