MP News: शिवराज बोले- यह दिन देखने के लिए 500 सालों तक चला संघर्ष, सभी बलिदानियों के चरणों में प्रणाम

MP News: पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को प्रभु श्री राम की नगरी ओरछा में राजाराम सरकार के मंदिर में भगवान श्रीराम के दर्शन कर पूजा-अर्चना की एवं मंदिर परिसर का भ्रमण कर साफ-सफाई की।
Shivraj Singh Chauhan
Shivraj Singh Chauhanraftaar.in

भोपाल, (हि.स.)। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को प्रभु श्री राम की नगरी ओरछा में राजाराम सरकार के मंदिर में भगवान श्रीराम के दर्शन कर पूजा-अर्चना की एवं मंदिर परिसर का भ्रमण कर साफ-सफाई की। शिवराज सिंह चौहान ओरछा मंदिर से ही आयोध्या के भव्य और दिव्य राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा समारोह व रामलला के विराजित होने के साक्षी बने। उन्होंने ओरछा मंदिर में रामधुन गुनगुनाई और भजन गाए। उन्होंने कहा कि, हम सभी सौभाग्यशाली हैं जो भव्य राम मंदिर में रामलला के विराजमान होने का दिन देख रहे हैं। करोड़ो भारतीयों का संघर्ष सफल हुआ है। जहां धर्म होता है वहीं विजय होती है। हम सब हर्षित हैं, उल्लासित हैं। देश प्रफुल्लित है, प्रसन्न है आज फिर से दीपावली मनाई जा रही है।

बलिदानियों के चरणों में प्रणाम

पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, आज रामलला अवधपुरी में, अयोध्या में दिव्य और भव्य मंदिर में विराजमान हुए हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथों प्राण प्रतिष्ठा हुई है। शिवराज ने कहा कि, यह मंदिर केवल भगवान राम का मंदिर नहीं, बल्कि राष्ट्र का मंदिर भी है। राम हमारे रोम रोम में रमे हैं, राम हमारी हर सांस में बसे हैं, राम हमारे प्राण भी है, राम हमारे भगवान भी हैं। आज मैं उन सभी बलिदानियों के चरणों में श्रद्धा के सुमन अर्पित करता हूं। 500 साल तक लगातार यह दिन देखने के लिए संघर्ष चला और उस संघर्ष में जिन्होंने अपने प्राणों का बलिदान दिया मैं उनके चरणों में प्रणाम करता हूं। हम सबके लिए आज जीवन का सबसे महत्वपूर्ण क्षण और दिन है।

विनाश काले विपरीत बुद्धि

पूर्व मुख्यमंत्री ने कांग्रेस पार्टी के निमंत्रण अस्वीकार करने पर निशाना साधते हुए कहा कि, “जाको प्रभु दारुण दुःख देई, बाकी मति पहले हर लेई” विनाश काले विपरीत बुद्धि। पहले तो कांग्रेस को निमंत्रण दिया, घर आया निमंत्रण कोई अस्वीकार करता है क्या...? अगर शादी का कार्ड भी देते हैं तो लोग कहते हैं हम जरूर आएंगे यह नहीं कहते कि हमें नहीं आना। उन्होंने मना कर दिया कि, नहीं आना है हम निमंत्रण अस्वीकार करते हैं। सियाराम में सब जग जानी, भारत के कण कण में राम भक्ति समाई हुई है। जन-जन के मन में राम है राम रोम-रोम में रमे हुए हैं। जब देखा कि चारों तरफ राममय वातावरण है, तो अब पश्चाताप कर रहे हैं अब कार्यालय सज रहे हैं, होर्डिंग्स लगा रहे हैं। संशयात्माविनश्यति, जो संशय में होते हैं उनका विनाश सुनिश्चित है। कांग्रेस के बुरे दिन आए हैं, उनका विनाश सुनिश्चित है।

मोदी जी के हाथों हुई प्राण-प्रतिष्ठा

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, हम सभी बहुत ही सौभाग्यशाली हैं कि, हमारी आखों के सामने भगवान राम भव्य और दिव्य मंदिर में विराजमान हुए हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि, मोदी जी भारत देश के लिए भगवान का वरदान है। वहीं प्राण-प्रतिष्ठा के बाद प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि, राम आग नहीं ऊर्जा हैं, वह विवाद नहीं समाधान हैं, वह वर्तमान नहीं अनंतकाल हैं, वह भारत के आधार भी हैं और विचार भी हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि, राम अब टेंट में नहीं रहेंगे, आज का सूरज अद्भुत आभा लेकर आया। पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने करोड़ो-करोड़ भारतीयों को रामलला के आने पर अतंत शुभकामनाएं दी और प्रभु श्रीराम से देश व प्रदेशवासियों के सुख-समृध्दि और खुशहाली की कामना की।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.