mp-the-state-is-suffering-from-heat-as-the-temperature-rises-the-weather-changes-after-april-27
mp-the-state-is-suffering-from-heat-as-the-temperature-rises-the-weather-changes-after-april-27

मप्रः तापमान बढ़ने के साथ गर्मी से बेहाल हुआ प्रदेश, 27 अप्रैल के बाद मौसम में बदलाव के आसार

भोपाल, 24 अप्रैल (हि.स.)। मध्य प्रदेश में फिलहाल कोई वेदर सिस्टम सक्रिय नहीं होने और हवाओं का रुख बदलने से वातावरण में नमी कम हो गई है। जिसके चलते राजधानी समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान बढ़ गया है। शुक्रवार को प्रदेश में सबसे अधिक तापमान 42 डिग्री सेल्सियस खजुराहो में दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार अभी चार-पांच दिन तक मौसम शुष्क रहने के आसार हैं। इस दौरान तापमान में धीरे-धीरे और बढ़ोतरी होने की संभावना है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में ऊंचाई पर बादल बने हुए हैं। इस वजह से तापमान में अपेक्षाकृत बढ़ोतरी नहीं हो पा रही रही है। दरअसल अरब सागर से मध्यप्रदेश होकर उत्तर-पूर्व की तरफ जेटस्ट्रीम गुजर रही है। जेट स्ट्रीम आठ से दस किलोमीटर की ऊंचाई से तेज रफ्तार से गुजरने वाली हवाएं (रफ्तार 100 से 250 किमी. प्रति घंटा तक) होती हैं। इसके प्रभाव से काफी ऊंचाई पर बादल बन जाते हैं। हालांकि इन बादलों के कारण बारिश की संभावना नहीं रहती, लेकिन तापमान में अपेक्षाकृत बढ़ोतरी नहीं हो पाती। अभी तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने का सिलसिला बना रहेगा। 27 अप्रैल को एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में प्रवेश करेगा। उसके प्रभाव से मौसम के मिजाज में कुछ बदलाव होगा। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय