शराब पीकर खेला चोर-पुलिस का गेमः 'पुलिस ऐसे पीटती है,' कहकर दो दोस्तों ने तीसरे को इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई

MP Crime News: मध्य प्रदेश के शाजापुर हाईवे पर स्थित टुकराना गांव के पास ढाबे से एक व्यक्ति की लाश मिलने से पुलिस महकमें में खलबली मच गई। मामला 24 दिसंबर का है। दो दोस्तों के पीटने से एक दोस्त की मौत।
MP Crime News
MP Crime NewsRaftaar

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। मध्य प्रदेश के शाजापुर हाईवे पर स्थित टुकराना गांव के पास ढाबे से एक व्यक्ति की लाश मिली। लाश मिलने के बाद पूरे पुलिस अमले में खलबली मच गई। आनन-फानन में पुलिस द्वारा मामले की जांच की जाने लगी। आखिर में पुलिस ने ढाबे से मिली लाश की गुत्थी को सुलझा लिया। जिसके बाद मंगलवार को इस मामले में एक और आरोपी जितेंद्र सौराष्ट्रीय को गिरफ्तार कर लिया गया। इससे पहले पुलिस ने राजेश सौराष्ट्रीय को गिरफ्तार किया था। जिस व्यक्ति की लाश पुलिस को मिली है, वह सलसलाई थाना क्षेत्र का निवासी बताया जा रहा है।

गिरफ्तारी के बाद आरोपियों ने बताया कैसे मारा दोस्त को?

गिरफ्तारी के बाद आरोपियों ने पुलिस को बताया कि वे तीनों शराब के नशे में थे। इस दौरान उन लोगों ने चोर-पुलिस की गेम खेलना शुरू किया। जिसमें सुनील को चोर बनाया गया। जबकि, राजेश और जितेंद्र पुलिस बने। दोनों ने सुनील को बांध दिया और उसे पीटने लगे। कहने लगे कि पुलिस ऐसे पीटती है। फिर वे दोनों वहां से सुनील को उसी हालत में छोड़कर चले गए। पीटने के कारण घायल सुनील की मौत हो गई। अगले दिन सुनील की लाश मिली तो पुलिस ने जांच शुरू की।

मामला 24 दिसंबर का

गौरतलब है कि मामला 24 दिसंबर का है। 24 दिसंबर के बाद से पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी। इस दौरान पाटीदार समाज के लोगों ने भी एसपी कार्यालय पहुंचकर आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी। पुलिस की मेहनत रंग लाई और उन्होंने एक आरोपी राजेश सौराष्ट्रीय को गिरफ्तार कर लिया। फिर मंगलवार को दूसरे आरोपी जितेंद्र सौराष्ट्रीय को भी रंथभंवर-बेरछा के पास से गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस ने हत्या का मामला समझ की जांच

पुलिस ने कहा है कि हमने मामले में जांच की। प्रथम दृष्टया मामला हत्या का लग रहा था। इसका वजह से हमने उसी एंगल पर जांच करने का विचार किया। मौके पर पुलिस टीम द्वारा काफी देर तक जांच पड़ताल की गई और फिर शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल शाजापुर भेजा गया था। कोतवाली टीआई ब्रजेश मिश्रा ने बताया कि इस कार्यवाही हमारें साथ उप निरीक्षक सुरेंद्र मेहता, आरक्षक शैलेंद्रसिंह गुर्जर, आरक्षक शैलेंद्र शर्मा, प्रधान आरक्षक कपिल नागर, प्रधान आरक्षक दीपक शर्मा, आरक्षक संजय पटेल, प्रधान आरक्षक रवि सेंगर, आरक्षक मनोज धाकड़ व मिथुन की सराहनीय भूमिका रही है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.