mars-entry-of-non-violence-journey-of-jain-acharya-mahashraman-on-july-1
mars-entry-of-non-violence-journey-of-jain-acharya-mahashraman-on-july-1

जैन आचार्य महाश्रमण की अहिंसा यात्रा का मंगल प्रवेश एक जुलाई को

मंदसौर 29 जून (हि.स.)। तेरापंथ के 11 वें आचार्य व अहिंसा यात्रा के प्रणेता आचार्य श्री महाश्रमण जी अपनी धवल सेना के साथ 1 जुलाई को मंदसौर में पधार रहैं हैं। अपनी धवल सेना 37 संतो व सतियों के साथ मंगल प्रवेश होगा। आचार्य श्री महाश्रमण ने अहिंसा यात्रा नवम्बर 2014 को नई दिल्ली लाल किले से प्रारंभ की थी, आपके द्वारा अभी तक पैदल 3 देश 23 राज्यों की यात्रा लगभग 51000 किलो मीटर की यात्रा कर चुके हैं। आपकी इस यात्रा का विचरण (म.प्र.) में 26 अप्रेल से हो रहा है तथा 7 जुलाई को जावद (नीमच) अंतिम पडाव होगा। यात्रा राजस्थान के भीलवाडा की ओर अग्रसित होगी। उल्लेखनीय है कि इस अहिंसा यात्रा का मुख्य उद्वेश्य नैतिकता, सदभावना व नशा मुक्ति के प्रति जैन-जैनेतर के प्रति जागरूक्ता पैदा करना है। आपको म.प्र. शासन द्वारा राजकीय अतिथि का दर्जा दिया गया हैं। मन्दसौर मेें मंगल भव्य प्रवेश दिनांक एक जुलाई को उपजैल (राजाराम फेक्ट्री के सामने) आठ बजे होगा। मालवा सभा के मंत्री कमलेश बंम ने बताया कि इस अवसर पर मन्दसौर नगर की 50 संस्था के पदाधिकारी व जन प्रतिनिधिगण भाजपा व कांग्रेस के प्रतिनिधि आगवानी करेंगें। हिन्दुस्थान समाचार / अशोक झलौया

Related Stories

No stories found.