मध्य प्रदेश फुटबॉल, हॉकी और शूटिंग स्पोर्ट्स का बनने जा रहा हब, अब हर जिले में मिलेगी ये सुविधा

खेल विभाग के बजट में ऐतिहासिक वृद्धि हुई है। इस वर्ष 738.13 करोड़ रुपये का बजट प्रावधान किया गया है। मध्य प्रदेश में सबसे अधिक एस्ट्रो टर्फ हॉकी मैदान है।
मध्य प्रदेश फुटबॉल, हॉकी और शूटिंग स्पोर्ट्स का बनने जा रहा हब
मध्य प्रदेश फुटबॉल, हॉकी और शूटिंग स्पोर्ट्स का बनने जा रहा हब

भोपाल, हि.स.। मध्य प्रदेश में तेजी से खेल अधोसंरचना में हो रहे विस्तार के चलते अब देश के स्पोर्ट्स हब के रूप में उसे नई पहचान मिलेगी। नाथूबरखेड़ा में 176 करोड़ रुपये की लागत से अंतरराष्ट्रीय खेल परिसर निर्माण के पहले चरण में एथलेटिक और हॉकी स्टेडियम का निर्माण चल रहा है। दूसरे चरण में 174 करोड़ रुपये की लागत और अगले चरण में 593 करोड़ रुपये की लागत से मल्टीपर्पस इंडोर स्टेडियम और अन्य खेल सुविधाएँ जल्दी ही मिलेगी। यह जानकारी जनसम्पर्क अधिकारी बिन्दु सुनील ने दी।

"ब्रेक डांस" और "ई-स्पोर्ट्स" अकादमी भी होगी शुरू

उन्होंने बताया कि प्रदेश में दो "ब्रेक डांस" और "ई-स्पोर्ट्स" अकादमी भी शुरू की जा रही है। दोनों विधा को ओलम्पिक और एशियन गेम्स में पदक जीतने वाले खेल के रूप में शामिल किया गया है। महिला फुटबॉल और जूनियर टीम को प्रोत्साहित करने के लिये फुटबॉल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के संयुक्त प्रयास से पैटर्न स्टेट प्रोग्राम शुरू किया जा रहा है। मुख्यमंत्री खेल योजना में हर विधानसभा क्षेत्र में खेल के बुनियादी ढांचा बनाने की तैयारी चल रही है।

खेल परिदृश्य पिछले डेढ़ दशकों में पूरी तरह गया बदल

उन्होंने बताया कि खेलों के आयोजन और सुविधाओं के चलते अब मध्य प्रदेश, हरियाणा और महाराष्ट्र का मजबूत प्रतिस्पर्धी बन गया है। कुछ क्षेत्र में मध्य प्रदेश का पूरे देश में कोई मुकाबला नहीं है। मध्य प्रदेश का खेल परिदृश्य पिछले डेढ़ दशकों में पूरी तरह बदल गया है। मध्य प्रदेश एक मात्र राज्य है जहां सर्वाधिक खेल अकादमियाँ और प्रशिक्षण केन्द्र हैं। वर्ष 2006 से 2015 तक विभिन्न खेलों की 11 अकादमियां स्थापित की गई हैं। इन अकादमियों में आधुनिक प्रशिक्षण सुविधाओं के साथ अनुभवी प्रशिक्षकों से खिलाड़ी उच्च स्तरीय प्रशिक्षण प्राप्त करते है। आज कई खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने में सफल हुए हैं।

आधुनिक सुविधाओं के साथ विश्वस्तरीय बुनियादी ढांचा अपनी तरह का एकमात्र

खेल विभाग के बजट में ऐतिहासिक वृद्धि हुई है। इस वर्ष 738.13 करोड़ रुपये का बजट प्रावधान किया गया है। मध्य प्रदेश में सबसे अधिक एस्ट्रो टर्फ हॉकी मैदान है। यहां 12 हॉकी सिंथेटिक टर्फ है और सात मैदानों का कार्य तेजी से चल रहा है। इसी तरह 5 एथलेटिक्स सिंथेटिक ट्रेक का निर्माण किया गया है और आठ ट्रेक आकार ले रहे हैं। प्रदेश की शूटिंग, घुड़सवारी और वॉटर स्पोर्ट्स अकादमी में सभी उन्नत तकनीक और आधुनिक सुविधाओं के साथ विश्वस्तरीय बुनियादी ढांचा अपनी तरह का एकमात्र है। भोपाल के नाथूबरखेड़ा में जल्द ही 100 एकड़ भूमि में एक अंतरराष्ट्रीय स्तर का खेल परिसर तैयार हो रहा है। इसमें एथलेटिक ट्रेक एण्ड फील्ड, एथलेटिक स्टेडियम, आउटडोर स्पोर्ट्स ऐरिया, प्रेक्टिस हॉकी ग्राउण्ड, हॉकी स्टेडियम, इंडोर स्टेडियम, फुटबॉल के लिये उत्कृष्टता केन्द्र तथा फुटबॉल ग्राउण्ड, जिसमें दो प्राकृतिक और एक कृत्रिम मैदान होंगे।

बेहतरीन फाइनल रेंज भी तैयार की गई

दुनिया की सर्वश्रेष्ठ शूटिंग अकादमी बिशनखेड़ी भोपाल में स्थित है। मध्य प्रदेश राज्य शूटिंग अकादमी ऑफ एक्सीलेंस में 10, 25 और 50 मीटर की शूटिंग रेंज के साथ बेहतरीन फाइनल रेंज भी तैयार की गई है, जो अंतरराष्ट्रीय मापदण्डों के अनुसार निर्मित है। अकादमी में पांच ट्रेप एण्ड स्कीट शूटिंग रेंज है। अंतरराष्ट्रीय शूटिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन (आईएसएसएफ) के अध्यक्ष लूसियानो रॉसी विश्वकप चैम्पियनशिप में भोपाल की अपनी यात्रा के दौरान विश्वस्तरीय शूटिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर की तारीफ कर चुके हैं।

Related Stories

No stories found.