Harda Blast Update: ब्लास्ट में बेघर हुए लोगों ने किया चक्काजाम, अपने घरों में जाने की मांग रहे अनुमति

Harda Blast Update: पटाखा फैक्ट्री में हुए ब्लास्ट के कारण फैक्ट्री के आसपास स्थित कई घर क्षतिग्रस्त हो गए थे। इन मकानों को प्रशासन ने एहतियात के तौर पर खाली करा लिया था।
Harda Blast
Harda Blastraftaar.in

हरदा, (हि.स.)। पटाखा फैक्ट्री में हुए ब्लास्ट के कारण फैक्ट्री के आसपास स्थित कई घर क्षतिग्रस्त हो गए थे। इन मकानों को प्रशासन ने एहतियात के तौर पर खाली करा लिया था। अब इन आवासों में रहने वाले लोग अपने घरों में जाने की अनुमति प्रशासन से मांग रहे हैं। शनिवार को उन्होंने अपनी मांग को लेकर हरदा-मगरधा रोड पर चक्का जाम कर दिया।

बेघर हुए लोगों ने हरदा-मगरधा रोड पर जाम लगा दिया है

प्राप्त जानकारी के अनुसार हरदा पटाखा फैक्ट्री ब्लास्ट में बेघर हुए लोगों ने हरदा-मगरधा रोड पर जाम लगा दिया है। एसडीएम केसी परते और एएसपी राजेश्वरी महोबिया मौके पर हैं। वे लोगों को सड़क से हटने के लिए समझाइश दे रहे हैं।

महिलाओं ने आरोप लगाया था कि चोर उनका सामान चुरा रहे हैं

इससे पहले शुक्रवार को भी पटाखा फैक्ट्री के पीछे रहने वाले लोगों ने हंगामा किया था। उनका कहना था कि प्रशासनिक अधिकारी उन्हें उनके क्षतिग्रस्त मकानों तक नहीं जाने दे रहे हैं। प्रदर्शनकारियों में शामिल महिलाओं ने आरोप लगाया था कि चोर उनका सामान चुरा रहे हैं। एसडीएम केसी परते ने महिलाओं को समझाइश दी कि सुरक्षा की दृष्टि से ही टूटे मकानों में जाने से लोगों को रोका जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रभावित परिवारों के एक-एक सदस्य को साथ ले जाकर प्रशासन की टीम नुकसान का सर्वे कर रही है।

हरदा फैक्ट्री विस्फोट के बाद से चार श्रमिक लापता बताए गए हैं

इधर, हरदा फैक्ट्री विस्फोट के बाद से चार श्रमिक लापता बताए गए हैं। मलबे में से बचाव दल को कोई शव नहीं मिला। खरगोन से दो परिवारों के लोग हरदा पहुंचे। उनका कहना है कि उनके परिजन फैक्टरी में काम करते हैं, लेकिन हादसे के बाद से उनकी कोई खबर नहीं है। उनके मोबाइल भी बंद आ रहे हैं। अफसरों ने उन्हें समझाकर वापस खरगोन लौटा दिया। उन्हें कहा गया है कि जैसे ही जानकारी मिलेगी, उन्हें खबर कर दी जाएगी।

सबसे हैरानी की बात यह है कि पटाखा फैक्ट्री का गैरकानूनी काम प्रशासन और सरकार के सामने चलता रहा। पहले भी इस पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट के कारण जान माल का नुकसान हो चूका है। लेकिन प्रशासन और सरकार ने कोई सबक नहीं लिया। जिसका इतना बड़ा परिणाम बेगुनाह जनता को भुगतना पड़ा।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.