dead-body-electric-furnace-gate-locked-from-inside-so-it-was-closed
dead-body-electric-furnace-gate-locked-from-inside-so-it-was-closed

शव दाह की बिजली की मशीन की भट्टी का गेट अंदर से लॉक, इसलिए पड़ी बंद

16/04/2021 शव दाह की बिजली की मशीन की भट्टी का गेट अंदर से लॉक उज्जैन,16 अप्रैल (हि.स.)। शहर में चक्रतीर्थ पर बिजली के दो शवदाह केंद्र स्थित हैं। एक सामान्य के लिए ओर एक कोविड पॉजीटिव्ह मृतकों के लिए आरक्षित किया गया है। कोविड मृतकों वाली मशीन बंद पड़ी है। मशीन का गेट अंदर लॉक है और उसे ठीक करने के लिए बड़ौदा के इंजीनियर का इंतजार चल रहा है। लेकिन तब तक कोरोना संक्रमित मृतकों के परिजन परेशान हो रहे हैं। नगर निगम के प्रकाश विभाग के उपयंत्री आनंद भण्डारी बताते हैं कि इस मशीन की भट्टी का लॉक अंदर से बंद हो गया है। बड़ौदा की कम्पनी के पास ठेका है। वहीं से इंजीनियर आकर सुधारेगा,तब चालू हो पाएगी मशीन। हालांकि विभाग के ही सूत्रों का दावा है कि जो लॉक अंदर से बंद हुआ है,उसमें केवल 200 रू. का खर्चा है। यहां के तकनीशियन सुधार सकते हैं। लेकिन बड़ौदावाले का इंतजार किया जा रहा है। इसके कारण कोविड पॉजीटिव्ह मृतकों की बॉडी दाह करने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ज्ञात रहे ऐसे मृतकों की बॉडी लकड़ी-कण्डे से खुले में भी जलाई जा रही है,जोकि कोविड प्रोटोकाल के अनुसार गलत है क्योंकि समीप में अन्य परिजन सामान्य मौतवाले शवों को जला रहे हैं। इस कारण से शव वाहन को दो से तीन घण्टे का इंतजार करना पड़ता है। ऐसा होने पर दूसरा शव लाने में तीन से पांच घण्टे लग जाते हैं। हिंदुस्थान समाचार/ललित ज्वेल

Related Stories

No stories found.