Oommen Chandy Death: केरल के पूर्व मुख्यमंत्री और 12 बार के विधायक कांग्रेस नेता का निधन, लंबे समय से थे बीमार

Oommen Chandy Passes Away: केरल के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ओमन चांडी का निधन हो गया है। ओमान चांडी दो बार केरल के मुख्यमंत्री रहे और 12 बार विधायक चुने गए।
Oommen Chandy
Oommen Chandy

नई दिल्ली, रफ्तार न्यूज डेस्क। Oommen Chandy Passes Away: केरल के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ओमन चांडी का निधन हो गया है। ओमान चांडी (Oommen Chandy) ने आज मंगलवार (18 जुलाई) को लंबी बीमारी के बाद 79 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया। सुधाकरन ने मंगलवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। ओमान चांडी दो बार केरल के मुख्यमंत्री रहे और 12 बार विधायक चुने गए। अपने राजनीतिक सफर में उन्होंने और भी कई पदों पर रहकर काम किया था।

सुधाकरन ने ट्वीट कर दी जानकारी

केरल के पूर्व मुख्यमंत्री और 12 बार के विधायक ओमन चांडी के निधन पर सुधाकरन ने ट्वीट कर कहा कि उस राजा की कहानी जिसने प्रेम की शक्ति से दुनिया पर विजय प्राप्त की, उसका मार्मिक अंत हुआ। मैं एक दिग्गज ओमन चांडी के निधन से बहुत दुखी हूं। उन्होंने अनगिनत व्यक्तियों के जीवन को प्रभावित किया और उनकी विरासत हमेशा हमारी आत्माओं में गूंजती रहेगी।

कांग्रेस केरल ने ट्वीट कर जताया दु:ख

कांग्रेस केरल ने ओमन चांडी के निधन पर ट्वीट कर कहा कि हमारे सबसे प्रिय नेता और पूर्व सीएम ओमन चांडी को विदाई देते हुए हम बेहद दुख हो रहा है। ओमन चांडी, केरल के सबसे लोकप्रिय और उदार नेताओं में से एक थे। सभी वर्ग के लोग चांडी सर को पसंद करते थे। कांग्रेस परिवार उनके नेतृत्व और योगदान को याद करेगा।

ओमन चांडी का राजनीतिक सफर

ओमान चांडी 2004-06 और 2011-16 दो बार केरल के मुख्यमंत्री रहे और 12 बार विधायक चुने गए थे। ओमान चांडी 1970 में पहली बार पुथुपल्ली सीट से चुनाव जीतकर केरल विधानसभा पहुंचे और 50 साल तक वहां एक भी चुनाव नहीं हारे। 27 साल की उम्र में उन्होंने अपना पहला चुनाव लड़ा था, जिसमें जीत हासिल करके विधायक के रूप में उन्होंने अपना कार्यकाल शुरू किया। इसके बाद वह लगातार 11 चुनाव जीते। चांडी ने 1970, 1977, 1980, 1982, 1987, 1991, 1996, 2001, 2006, 2011, 2016 और 2021 में यहां से चुनाव लड़ा। अपने राजनीतिक सफर के दौरान दो घोटालों में भी ओमान चांडी का नाम सामने आया था। एक बार केरल के वित्त मंत्री रहते हुए पामोलेन स्कैम में और दुसरी बार केरल के सोलर स्कैम में उनका नाम सामने आया था। चांडी ने अपने राजनीतिक जीवन के दौरान चार बार विभिन्न सरकारों में मंत्री और चार बार राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता के रूप में कार्य किया है।

ओमान चांडी का जीवन परिचय

साल 2022 में ओमान चांडी 18,728 दिनों तक सदन में पुथुपल्ली क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करके राज्य विधानसभा के सबसे लंबे समय तक सेवा करने वाले सदस्य बने थे। ओमान चांडी का जन्म 13 अक्टूबर, 1943 को केरल के कोट्टायम जिले में हुआ था। उनके पिता का नाम केओ चांडी और मां का नाम बेबी चांडी था। उन्होंने सीएमएस कॉलेज से बीए की पढ़ाई की, इस दौरान वह छात्र राजनीति में काफी सक्रिय रहे थे। ओमान ने एरनाकुलम के गवर्मेंट लॉ कॉलेज से कानून की पढ़ाई भी की थी।

Related Stories

No stories found.