राहुल गांधी ने लिखा सिद्धारमैया को पत्र, 'प्रज्वल रेवन्ना मामले में पीड़ितों के लिए बढ़ाएं सहायता'

राहुल गांधी ने लगाए अमित शाह और मोदी पर प्रज्वल का समर्थन करने का आरोप। बोले एक रेपिस्ट के खिलाफ की समर्थन रैली।
Rahul Gandhi
Rahul Gandhiraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। कांग्रेस के राहुल गांधी ने शनिवार को कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को पत्र लिखा और प्रज्वल रेवन्ना सैक्स स्कैनडल मामले में पीड़ितों की मदद करने की बात कही। कांग्रेस की नैतिक जिम्मेदारी है कि वह उन मां-बहनों के लिए लड़े जो इस मामले में पीड़ित हैं। मैं जानता हूं कि कर्नाटक सरकार ने मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है और साथ ही प्रधानमंत्री से प्रज्वल के डिप्लोमैटिक पासपोर्ट को रद्द करके उसे भारत जल्द ही लाने की गुजारिश की है। पत्र में आगे कहा कि मैं आपसे गुजारिश करता हूं कि जितनी ज्यादा हो सके उतनी पीड़ितों की मदद करें व उनका साथ दें।

पत्र में अमित शाह पर जताई आपत्ति

राहुल ने अपने पत्र में केंद्रीय गृह मंत्री शाह पर आरोप लगाया कि वह प्रज्वल के बारे में पहले से ही जानते थे। राहुल ने पत्र में कहा कि मैं इस बात से हैरान हूं कि दिसंबर 2023 तक, हमारे गृह मंत्री शाह को देवराजे गौड़ा द्वारा प्रज्वल के इतिहास के बारे में बता दिया गया था। खासतौर पर उन वीडियो के बारे में। इसके साथ ही उन्होंने मोदी पर एक रेपिस्ट से समर्थन में रैली करने पर भी आपत्ति जताई।

अमित शाह और मोदी पर साधा निशाना

पार्टी के बड़े नेताओं को प्रज्वल के बारे में पता होने के बाद भी हमारे प्रधानमंत्री ने उसके समर्थन में रैली थी। इसके साथ भारतीय सरकार ने उन्हें देश छोड़कर भागने का भी मौका दिया, जिससे वह एसआईटी की जांच में रुकावट पैदा कर सकें। प्रज्वल रेवन्ना इस तरह के घिनौने काम प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के आशीर्वाद के साथ करते रहे।

मोदी ने एक रेपिस्ट के लिए चुनावी सर्मथन रैली की

कुछ दिन पहले एक राजनीतिक रैली के दौरान राहुल ने जेडीएस से सस्पेंड किए जा चुके हासन से सांसद प्रज्वल पर 400 महिलाओं के साथ रेप और वीडियो रिकॉर्ड करने की बात कही। उन्होंने प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने एक रेपिस्ट के समर्थन में चुनावी रैली की ताकि वह कर्नाटक से जीत सके।

पीएम कर्नाटर का दौरा करने से रहे है डर

राहुल ने कहा कि पीएम मोदी अब कर्नाटक का दौरा करने से डर रहे हैं और दावा किया कि मोदी ने "राज्य में सभी चुनावी रैलियां रद्द कर दी हैं और तब से भाग निकले हैं"। साथ ही कहा कि यह सिर्फ एक साधारण सेक्स स्कैंडल नहीं है। प्रज्वल की गतिविधियों के बारे में जानने के बावजूद, मोदी और अमित शाह दोनों ने जेडीएस के साथ गठबंधन बनाया और उनके लिए वोट मांगे।

सिद्धारमैया का पीएम को पत्र

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर रेवन्ना का डिप्लोमैटिक पासपोर्ट रद्द करने का आग्रह किया था और कहा था कि एसआईटी इस संबंध में सभी आवश्यक विवरण प्रदान करेगी और सभी कानूनी औपचारिकताओं को पूरा करेगी।

किन धाराओं में दर्ज है मामला

होलेनारासिपुरा टाउन पुलिस में दर्ज एक शिकायत के आधार पर रेवन्ना पर 28 अप्रैल को कथित यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज किया गया था। यौन उत्पीड़न, धमकी और महिला की गरिमा को ठेस पहुंचाने के आरोप में आईपीसी की धारा 354ए, 354डी, 506 और 509 के तहत मामला दर्ज किया गया था। शिकायत के अनुसार, पीड़िता ने दावा किया कि प्रज्वल रेवन्ना और उसके पिता एचडी रेवन्ना ने उसका यौन उत्पीड़न किया।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.