तेजस्वी सूर्या को कर्नाटक पुलिस ने किया गिरफ्तार, बेंगलुरु के हनुमान चालीसा और अजान विवाद का था मामला

Tejashwi Surya Detained: बेंगलुरु में रविवार को हुए अज़ान के समय कथित तौर पर तेज़ संगीत बजाने को लेकर विवाद में आज बेंगलुरु पुलिस ने भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या को हिरासत में लिया है।
Tejashwi Surya
Tejashwi SuryaRaftaar

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। कर्नाटक के बेंगलुरु में रविवार को हुए अज़ान के समय कथित तौर पर तेज़ संगीत बजाने को लेकर विवाद में आज बेंगलुरु पुलिस ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद तेजस्वी सूर्या को हिरासत में लिया है। इससे पहले तेजस्वी सूर्या ने उस दुकानदार से मुलाकात की, जिसे अजान के समय कथित तौर पर तेज संगीत बजाने पर कुछ लोगों ने पीटा था। इस दौरान सांसद ने शेष आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर नागरथपेटे में बंद बुलाने की धमकी दी थी। विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने लॉ एंड ऑर्डर मेंटेन करने के लिए हल्का बल प्रयोग भी किया। अपनी गिरफ्तारी के बाद सांसद तेजस्वी सूर्या ने प्रदर्शनकारियों से वापस जाने का आग्रह किया, उन्होंने कहा 'सब चले जाओ।'

कर्नाटक पुलिस ने क्यों किया गिरफ्तार?

गौरतलब है कि बीते रविवार को अज़ान के समय कथित तौर पर तेज़ संगीत बजाने पर बेंगलुरु में एक दुकानदार को कुछ लोगों द्वारा पीटे जाने के बाद भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने कर्नाटक में सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार पर तुष्टिकरण की राजनीति को जिम्मेदार ठहराया था। दुकानदार को कुछ लोगों द्वारा पीटे जाने के बाद इस विवाद में मंगलवार (19 मार्च) को बेंगलुरु में विरोध प्रदर्शन हुआ। जिसमें शामिल होने के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद तेजस्वी सूर्या भी पहुंचे थे। इसके बाद कर्नाटक पुलिस ने बेंगलुरु में उन्हें हिरासत में लिया है।

क्या था पूरा मामला?

दरअसल 17 मार्च रविवार को कर्नाटक के बेंगलुरु में अज़ान के समय कथित तौर पर तेज़ संगीत बजाने को लेकर एक दुकानदार और कुछ लोगों में विवाद हो गया। जिसके बाद दुकानदार मुकेश को तेज़ संगीत बजाने पर कुछ लोगों ने पीट दिया। पुलिस ने पूरे मामले की शिकायत दर्ज कर ली। अपनी शिकायत में पुलिस ने लिखा कि मुकेश ने कहा कि कुछ लोग उसकी दुकान पर आए और उससे संगीत बजाना बंद करने को कहा क्योंकि अज़ान का समय हो गया था । जब उसने मना किया तो उन्होंने उसकी पिटाई कर दी। बाद में मुकेश ने दावा किया कि उन लोगों ने लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा बजाने पर आपत्ति जताई थी। हालांकि, उनकी शिकायत में हनुमान चालीसा का जिक्र नहीं है, ऐसा पुलिस का दावा है। इस मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों की पहचान सुलेमान, शाहनवाज, रोहित, ज्ञानीश और तरूना के रूप में कर ली है। दुकान के सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया। इनमें से दो मुस्लिम और एक हिंदू है। इसके अलावा तीन अन्य फरार हैं। आगे की जांच जारी है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.