Bengaluru Rains : बूंद-बूंद को तरस रहे कर्नाटक में भारी बारिश; बेंगलुरु एयरपोर्ट डूबा, 17 फ्लाइट रद्द

लंबे समय तक गर्मी के बाद बेंगलुरु में हाल ही में तापमान में गिरावट देखी गई। अधिकतम तापमान 31.9 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जो मार्च के बाद से सबसे कम है।
Waterlogging
WaterloggingCredit: Social Media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। बेंगलुरु शहर में शुक्रवार और रात भर भारी बारिश होती रही। जिसके कारण टेक-हब में जलभराव का सामना करना पड़ा। साथ ही जलभराव के कारण यातायात भी बाधिक हुआ। इसके अलावा कर्नाटक की राजधानी में कई पेड़ उखड़ गए और बिल्डिंगों में लीकेज भी देखने को मिली। कई जगह घंटों तक यातायात रुका रहा। कई यूजर्स ने बारिश और तूफान की तस्वीर और फोटो को सोशल मीडिया पर साझा किया।

सोशल मीडिया पर यूजर्स की प्रतिक्रिया

एक यूजर ने बेंगलुरु में ओआरआर पर डॉ. राजकुमार मेमोरियल के पास देर रात #BengaluruRains हैश टैग के साथ पोस्ट किया। उन्होंने शहर के उत्तरी, सीबीडी और पश्चिमी हिस्सों में छिट-पुट बारिश की बात कही औ एक लिखा कि एक तीव्र तूफ़ान पूर्वोत्तर से शहर में प्रवेश करने के कगार पर है। वहीं एक दूसरे यूजर ने पोस्ट किया कि क्या इसे सिर्फ बारिश कहेंगे? ज्ञानभारती में सोच से परे बारिश और लगातार बादल गरज रहे हैं। इसके अलावा एक दूसरे पोस्ट में हेब्बाल और हवाई अड्डे के बीच बेंगलुरु में केम्पेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा रोड पर जलभराव की बात कही।

क्या कहती है मीडिया रिपोर्ट?

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बेंगलुरु में हाल ही में एक तापमान में बड़ा बदलाव देखा गया है। लगभग दो महीने की चिलचिलाती गर्मी झेलने के बाद मार्च के बाद से यह सबसे कम अधिकतम तापमान था। आईएमडी के मुताबिक, शुक्रवार को शहर में पारा 31.9 डिग्री सेल्सियस पर रहा, जो फरवरी के बाद से केवल कुछ दिनों के लिए इसी स्तर तक गिर गया था। शुक्रवार को तापमान मई के दर्ज अमूमन तापमान से 1.3 डिग्री कम दर्ज किया गया। रिकॉर्ड के अनुसार फरवरी में सबसे कम तापमान 30.4 डिग्री सेल्सिसय दर्ज किया गया।

आईएमडी का फोरकास्ट

आईएमडी के लेटेस्ट फोरकास्ट से यह भी पता चलता है कि शहर में 14 मई तक तेज हवाओं के साथ हल्की से मध्यम बारिश होगी, जो मुख्य रूप से शाम या रात में होगी। अगले दो दिनों में तापमान अधिकतम 32 डिग्री सेल्सियस से न्यूनतम 21 डिग्री सेल्सियस तक रहने की उम्मीद है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.