Jharkhand Floor Test Live: झारखंड विधानसभा में चंपई सरकार ने हासिल किया विश्वास मत, समर्थन में 47 वोट

Jharkhand Assembly Trust Vote LIVE: झारखंड विधानसभा के विशेष सत्र में सीएम चंपाई सोरेन ने विश्वास मत का प्रस्ताव पेश किया है। इस दौरान चंपाई सोरेन ने हेमंत सोरेन सरकार में किए कार्यों को गिनाया।
Jharkhand Assembly
Jharkhand AssemblyRaftaar

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। झारखंड में आज विधानसभा का विशेष सत्र चल रहा है। इस विशेष सत्र में झारखंड के नए सीएम चंपाई सोरेन ने विश्वास मत का प्रस्ताव पेश किया है। इस दौरान चंपाई सोरेन ने हेमंत सोरेन सरकार में किए कार्यों को गिनाया। चंपई सोरेन सरकार आज झारखंड विधानसभा में अपना बहुमत साबित करेगी। विश्वास प्रस्ताव पर वाद-विवाद के बाद वोटिंग होगी। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी वोट करेंगे। ईडी कोर्ट ने उन्हें पहले ही इसकी अनुमति प्रदान कर दी है। विश्वास मत पर वोट देने के लिए सत्तारूढ़ गठबंधन के विधायक रविवार रात में ही विशेष विमान से हैदराबाद से रांची पहुंच चुके है।

चंपई सोरेन ने 2 फरवरी को ली थी शपथ

गौरतलब है कि झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को जमीन घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने 31 जनवरी उनको गिरफ्तार किया था। हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के बाद चंपई सोरेन ने 2 फरवरी को शपथ ली। इसके बाद उन्हें बहुमत साबित करने के लिए 10 दिन का समय दिया गया था। लेकिन सत्तारूढ़ गठबंधन के नेता आलमगीर आलम ने कहा था कि सरकार पांच फरवरी को ही विशेष सत्र के दौरान बहुमत साबित कर देगी। आज सीएम चंपई सोरेन विधानसभा के विशेष सत्र में बहुमत साबित कर रहें है।

सीएम चंपई सोरेन ने विश्वास प्रस्ताव पेश किया

झारखंड में विधानसभा के स्पेशल सत्र में सीएम चंपई सोरेन ने विश्वास प्रस्ताव पेश किया। इसके साथ उन्होंने विधानसभा को संबोधित करते हुए कि मैं शिबू सोरेन का विद्यार्थी हूं। आदिवासियों को काम करने से रोका जाता है। बीजेपी नेताओं के खिलाफ ईडी की कार्रवाई कर रहीं है और जांच एजेंसी का दुरुपयोग किया जा रहा है। सीएम चंपाई सोरेन ने कहा कि हेमंत सोरेन के नेतृत्व में सरकार 4 साल चली है। झारखंड को सोने की चिड़िया के रूप में लोग देखते हैं, लेकिन मुंबई ,गुजरात तक यहां का खनिज गया। यहां के आदिवासी विस्थापित हुए हैं। सरकार गठन के बाद बुनियादी समस्या को दूर करने का प्रयास किया गया। चंपाई सोरेन ने कहा हम हेमंत सोरेन के पार्ट टू हैं।

नेता प्रतिपक्ष ने किया हेमंत सोरेन पर पलटवार

झारखंड विधानसभा में चंपई सरकार के फ्लोर टेस्ट के लिए चल रहें स्पेशल सत्र में बीजेपी विधायक दल के नेता अमर बाउरी ने चंपाई सोरेन को कहा सावधान रहें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी देश और झारखंड विरोधी है। कांग्रेस के साथ जो भी गया, वो जेल गया। इसके साथ उन्होंने झारखंड के बड़े नोता और JMM के मुखिया शिबू सोरेन के बारे में बताते हुए कहा कि हमें नही भुलना चाहिए शिबू सोरेन को मुध कोड़ा को जेल भिजवाया। आगे उन्होंने हेमंत सोरेन पर पलटवार करते हुए कहा कि आपकी सरकार है पर आपके ऊपर विश्वास नहीं। उन्होंने कहा कि अपकी सरकार भ्रष्टाचार की वजह से गई है। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार नहीं होती तो हेमंत सोरेन सरकार में इतने समय तक नहीं रहते।

चंपई सरकार के फ्लोर टेस्ट के लिए वोटिंग की प्रक्रिया शुरू

झारखंड विधानसभा में चंपई सरकार के फ्लोर टेस्ट के लिए चल रहें स्पेशल सत्र में सरकार के बहुमत परीक्षण पर वोटिंग की प्रक्रिया शुरू हो गई है। विधानसभा स्पीकर ने चंपई सोरेन सरकार के समर्थन वाले सदस्यों को खड़े होने के लिए कहा है।

झारखंड में चंपई सरकार ने विश्वास मत हासिल किया

झारखंड विधानसभा में चंपई सोरेन सरकार ने विश्वास मत हासिल किया। फ्लोर टेस्ट में चंपई सोरेन सरकार के समर्थन में 47 वोट पडे़। जबकि विपक्ष को कुल 29 वोट मिले हैं। झारखंड में झामुमो के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार ने विश्वास मत जीत लिया है।

31 जनवरी देश के लोकतंत्र का काला अध्याय- हेमंत सोरेन

इसके साथ झारखंड में विधानसभा के स्पेशल सत्र में पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि मैं इस सदन में चंपई सोरेन जी के विश्वास मत के समर्थन में खड़ा हुआ हूं। हमारी पूरी पार्टी और पूरा गठबंधन दल चंपई सोरेन को समर्थन करता है। इसके बाद उन्होंने अपनी गिरफ्तारी के दिन 31 जनवरी को देश के लोकतंत्र का काला अध्याय बताया। उन्होंने कहा कि 31 की रात को देश में पहली बार किसी मुख्यमंत्री का गिरफ्तारी हुई है। हेमंत सोरेन ने आरोप लगाया कि उनकी गिरफ्तारी की पटकथा पहले ही लिखी जा रही थी। उन्होंने कहा कि मुझे जेल भेजकर इनके मंसूबे पूरे नहीं होंगे। ये झारखंड है, यहां के आदिवासी और दलित भाइयों ने अपनी कुर्बानी देकर राज्य को बचाया है। इसके साथ विधानसभा में हेमंत सोरेन ने कहा कि मैं आंसू नहीं बहाऊंगा क्योंकि दलित और आदिवासियों के आंसुओं का कोई मोल नहीं है। उन्होंने कहा, आज मुझे किसलिए गिरफ्तार किया गया है। 8.5 एकड़ घोटाले में। अगर हिम्मत है तो सदन में कागज पटककर दिखाएं कि हेमंत के नाम कौन सी जमीन है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करेंwww.raftaar.in

Related Stories

No stories found.