Jharkhand News: CM हेमंत सोरेन को ईडी ने भेजा आठवां समन, एक सप्ताह के अंदर पूछताछ के लिए बुलाया

Jharkhand News: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आठवां समन जारी कर उन्हें रांची जमीन घोटाले मामले में पूछताछ के लिए एक सप्ताह के अंदर ईडी कार्यालय बुलाया है।
हेमंत सोरेन, प्रवर्तन निदेशालय
हेमंत सोरेन, प्रवर्तन निदेशालयRaftaar

रांची, (हि.स.)। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आठवां समन जारी कर उन्हें रांची जमीन घोटाले मामले में पूछताछ के लिए एक सप्ताह के अंदर ईडी कार्यालय बुलाया है। इससे पहले मुख्यमंत्री को सात समन भेजे जा चुके हैं लेकिन वे पूछताछ के लिए नहीं पहुंचे हैं लेकिन इस बार ईडी ने जवाब के साथ उपस्थित होने को कहा है।

मुख्यमंत्री की तरफ से अबतक पत्र भेजकर ही जवाब दिया गया है

इससे पहले ईडी ने पांच जनवरी को जमीन घोटाले से जुड़े धन शोधन मामले में हेमंत सोरेन से पूछताछ के लिए पत्र लिखा था। ईडी ने कहा था कि हेमंत सोरेन इस मामले में जांच अधिकारी को अपनी सुविधानुसार तारीख और स्थान आदि के बारे में सूचित करें ताकि उनका बयान दर्ज किया जा सके। ईडी ने मुख्यमंत्री को अब तक सात बार समन भेजा है लेकिन किसी भी समन पर वो ईडी के समक्ष उपस्थित नहीं हुए। इस दौरान लगातार दोनों तरफ से पत्राचार होता रहा है। मुख्यमंत्री की तरफ से अबतक पत्र भेजकर ही जवाब दिया गया है।

झारखंड के मुख्यमंत्री के लिए आठवां सम्मन कोई मायने नहीं रखता

इधर, गोड्डा सांसद निशिकांत दूबे ने सोशल मीडिया साइट एक्स पर एक ट्वीट में कहा कि झारखंड के मुख्यमंत्री के लिए आठवां सम्मन कोई मायने नहीं रखता। अरविंद केजरीवाल तो हल्ला मचा रहे हैं लेकिन हमारे मुख्यमंत्री तो चुपचाप जाड़ा काट रहे हैं। कम से कम शिबू सोरेन की इज्जत तो रखिए। इस्तीफा दीजिए और एजेंसियों के प्रश्न का जवाब दीजिये।

ईडी ने CM सोरेन को पहली बार इस साल 14 अगस्त को पूछताछ के लिए बुलाया था

उल्लेखनीय है कि ईडी ने मुख्यमंत्री सोरेन को पहली बार इस साल 14 अगस्त को पूछताछ के लिए बुलाया था। इसके बाद 24 अगस्त, 9 सितंबर, 23 सितंबर, 4 अक्टूबर और 12 दिसंबर को समन भेजकर पूछताछ के लिए रांची जोनल कार्यालय बुलाया था। मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में ईडी ने कहा है कि बड़गाईं अचंल के राजस्व कर्मचारी भानु प्रताप के मामले में दर्ज ईसीआईआर संख्या आरएनजेडओ/25/23 की जांच चल रही है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करेंwww.raftaar.in

Related Stories

No stories found.