झारखंड में ED की बड़ी कार्रवाई, छापेमारी में बरामद मिला नोटों का पहाड़; मंत्री आलमगीर से जुड़े तार

Jharkhand News: दरअसल नोटों का यह पहाड़ झारखंड के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम के निजी सचिव के नौकर के यहां से मिला है।
ED Raid in Jharkhand
ED Raid in Jharkhandraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। देश में चुनाव का माहौल है। 07 मई 2024 को लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के लिए मतदान होना है। इसी बीच केंद्रीय जांच एजेंसी ईडी ने झारखंड में एक बड़े सर्च अभियान के तहत नोटों का पहाड़ बरामद किया है। इन नोटों की गणना के लिए बैंको से कर्मचारियों और नोट गिनने वाली मशीने मंगवाई गई है। अनुमान के अनुसार यह राशि करोड़ो की है। दरअसल नोटों का यह पहाड़ झारखंड के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम के निजी सचिव के नौकर के यहां से मिला है। ईडी की इस कार्रवाई ने राजनीतिक दलों में हलचल मचा कर रख दिया है।

मोदी सरकार ने इस मामले में विपक्ष को घेरा है

आलमगीर आलम कांग्रेस पार्टी से हैं, वह पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं। वह झारखंड की चंपाई सोरेन सरकार में मंत्री के पद पर विराजमान हैं। चंपाई सोरेन से पहले प्रदेश में हेमंत सोरेन की सरकार थी। हेमंत सोरेन सरकार ने भी उन्हें अपनी सरकार में मंत्री बनाया था। उनका झारखंड की राजनीति में बड़ा कद है। झारखंड में झामुमो, कांग्रेस और आरजेडी गठबंधन की सरकार है, जिसमे आलमगीर आलम की पहुंच काफी मजबूत मानी जाती है। इसलिए उन्हें प्रदेश सरकार ने मंत्री बनाया हुआ है। अब उनके करीबी के घर से छापेमारी में ईडी को नोटों का पहाड़ मिला है। इसके कारण देश की राजनीति में बवाल हो गया है। मोदी सरकार ने इस मामले में विपक्ष को घेरा है।

सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ हमेशा सख्त कार्रवाई करेगी

देश की केंद्रीय एजेंसी ईडी की सराहना करनी होगी कि वह इस तरह के भ्रष्टाचारियों का खुलासा कर रही है। जो पैसा देश के विकास में लगना चाहिए था। उसका इस्तेमाल इस तरह के भ्रष्टाचारी नेता अपने भ्रष्टाचार में कर रहे हैं और गरीबों और जरुरतमंदो के हक को छीनने का गैरकानूनी कार्य कर रहे हैं। इसको लेकर पीएम मोदी ने भी विपक्ष को घेरा है। पीएम मोदी का कहना है कि इस तरह के भ्रष्टाचार करने वालों पर जब हम कार्रवाई करते हैं तो भ्रष्ट नेता उनके खिलाफ खड़े हो जाते हैं और उनकी बुराई करने लगते हैं। पीएम का कहना है कि उनकी सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ हमेशा सख्त कार्रवाई करेगी।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.