Kargil Vijay Diwas: रक्षामंत्री ने कहा- हमारे सैनिक ऑक्सीजन की कमी के बावजूद बंदूक कभी नीचे नहीं की

Kargil Vijay Diwas: लद्दाख में कारगिल विजय दिवस पर MIG-29 विमानों ने द्रास में कारगिल युद्ध स्मारक के ऊपर से उड़ान भरी। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कारगिल युद्ध में शहीद हुए जवानों को दी श्रद्धांजलि।
Rajnath Singh
Rajnath Singh

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। कारगिल विजय दिवस के मौके पर देश भर में कार्यक्रम हो रहे हैं। लद्दाख में कारगिल विजय दिवस पर चार MIG-29 विमानों ने द्रास में कारगिल युद्ध स्मारक के ऊपर से उड़ान भरी। 1999 के कारगिल युद्ध में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी जा रही है। वहीं लद्दाख पहुंचे रक्षामंत्री ने कारगिल युद्ध स्मारक पहुंचे। उन्होंने यहां पर कारगिल युद्ध में अपनी जान की बाजी लगाकर भारत मां की रक्षा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी।

सैनिकों के वीरता और शौर्य को स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत की रक्षा के लिए 1999 में देश के सैनिकों ने जो वीरता और शौर्य का प्रदर्शन किया वह स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा। आज हम खुली हवा में सांस इसलिए ले पा रहे हैं, क्योंकि किसी समय में 0 डिग्री से कम तापमान में हमारे सैनिकों ने ऑक्सीजन की कमी के बावजूद अपनी बंदूकें कभी नीचे नहीं की। आज कारगिल में भारत का ध्वज इसलिए लहरा रहा हैं क्योंकि 1999 में भारत के सैनिकों ने अपने शौर्य का परिचय देते हुए दुश्मनों की छाती में तिरंगा लहरा दिया था।

द्रास में कारगिल युद्ध स्मारक के ऊपर उड़े IG-29 विमान

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कारगिल विजय दिवस पर द्रास में कारगिल युद्ध में अपनी जान गंवाले वाले जवानों की याद में बने 'हट ऑफ रिमेंबरेंस' संग्रहालय का दौरा किया। बता दें कि किसी भी देश की रक्षा को मजबूती उसकी एयर स्ट्राइक की ताकत से मिलती है। इसी क्रम में चार MIG-29 विमानों ने द्रास में कारगिल युद्ध स्मारक के ऊपर से उड़ान भर कर भारतीयों का सीना गर्व से चौड़ा कर दिया है। बता दें कि 1999 के कारगिल युद्ध में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी जा रही है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दी कारगिल शहीदों को श्रद्धांजलि

इधर, लखनऊ में कारगिल दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कारगिल शहीद स्मृति वाटिका पहुंचकर प्राणों की आहुति देने वाले जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की। सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस मौके पर कहा कि 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान, इससे पूर्व के सभी युद्धों में और इसके उपरांत भी देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले भारत माता के वीर सपूतों को मैं विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं...नए भारत में हर नागरिक को सुरक्षा की गारंटी है। इस नए भारत में आतंकवाद के लिए, नक्सलवाद के लिए किसी भी तरह की कोई जगह नहीं है। बता दें कि सोशल मीडिया पर लोग कारगिल विजय दिवस को अपने अपने तरीके से मना रहे हैं। लोग एक दूसरे को बधाई दे रहे हैं और #KargilVijayDiwas2023 के साथ अपने मैसेज शेयर कर रहे हैं।

Related Stories

No stories found.