government-should-take-strict-measures-to-protect-sikh-hindu-minorities-in-kashmir-hindustan-shiv-sena
government-should-take-strict-measures-to-protect-sikh-hindu-minorities-in-kashmir-hindustan-shiv-sena

कश्मीर में सिख, हिंदू अल्पसंख्यकों की सुरक्षा के लिए कड़े कदम उठाए सरकार: हिन्दुस्तान शिव सेना

जम्मू, 28 जून (हि.स.)। कश्मीर घाटी में बंदूक की नोक पर दो सिख लड़कियों का अपहरण करने के बाद उनका पचास-पचास साल के व्यक्तियों के साथ निकाह पढ़ाए जाने की कड़ी आलोचना करते हुए हिन्दुस्तान शिव सेना के प्रदेश के विक्रांत कपूर ने सोमवार को उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से आग्रह किया कि वह कश्मीर घाटी में सिख और हिंदू अल्पसंख्कों की सुरक्षा सुनिश्चित करें। इसके साथ ही उन्होंने जम्मू व कश्मीर यूटी में भी यूपी और मध्य प्रदेश की तर्ज पर अंतर धार्मिक विवाह अधिनियम को लागू करने की मांग की। हिन्दुस्तान शिव सेना के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत कपूर ने एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा कि अगर ऐसा घिनौना कार्य करने वालों के खिलाफ तत्काल से कड़ी कार्रवाई नहीं की गई तो इससे जम्मू में हालात खराब हो सकते हैं। उन्होंने कश्मीर घाटी में अल्पसंख्यक महिलाओं के अधिकारों की सुरक्षा भी सुनिश्चित करने का उपराज्यपाल से आग्रह किया। कपूर ने जम्मू कश्मीर यूटी में अंतर-धार्मिक विवाह अधिनियम को लागू करने पर बल देते हुए कहा कि इसमें माता पिता और अदालत की अनुमति अनिवार्य होती है। उन्होंने मुस्लिम कट्टरपंथियों पर निशाना साधते हुए कहा कि कश्मीर घाटी में एक बार फिर से सिख और हिंदू अल्पसंख्यकों को भयभीत करके उनको वहां से भगाने का प्रयास किया जा रहा है जैसे कि कश्मीरी पंडितों को कश्मीर घाटी से भगाया गया था। विक्रांत कपूर ने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से आग्रह किया कि वह इस मामले की गंभीरता को समझते हुए तत्काल से ठोस कदम उठाएं और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर सरकार ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं की तो हिन्दुस्तान शिव सेना इसके खिलाफ भारी पैमाने पर विरोध प्रदर्शन करेगी और इससे उत्पन्न हालात के लिए सरकार ही पूरी तरह से जिम्मेदार होगी। संवाददाता सम्मेलन में हिन्दुस्तान शिव सेना के वरिष्ठ नेता सुनील दबगोत्रा, अपुन त्रिखा, बाबा राम कैथ, अभिषेक, हिमांशु, अमित, महिला इकाई की नेता सपना कोहली, ज्योति देवी और अन्य भी मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान

Related Stories

No stories found.