Himachal Pradesh: लाहुल स्पीति टोल पर इस दिन से वाहनों का वसूला जाएगा विकास शुल्क

Shimla: जिला लाहुल स्पीति के स्पीति खंड के विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण काजा और ताबो में हिमाचल प्रदेश सहित देशभर के विभिन्न हिस्सों से आने वाले वाहनों को अब प्रवेश करने पर विकास शुल्क अदा करना होगा।
Himachal Pradesh
Himachal Pradesh

शिमला, हि.स.। जिला लाहुल स्पीति के स्पीति खंड के विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण (एसएडीए) काजा और ताबो में हिमाचल प्रदेश सहित देशभर के विभिन्न हिस्सों से आने वाले वाहनों को अब प्रवेश करने पर विकास शुल्क अदा करना होगा। इस विकास शुल्क के लिए 1 जनवरी 2024 से समूदो में एक बैरियर स्थापित किया जा रहा है। यह फीस प्रति ट्रिप ली जाएगी।

पर्यटकों से लिया जाएगा शुल्क

दरअसल, हाल ही में विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण (एसएडीए) की बैठक लाहुल स्पीति के विधायक रवि ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित हुई। इसी बैठक ने यह फैसला लिया गया कि काजा और ताबो में पर्यटकों का आवागमन दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है। इसके कारण उक्त क्षेत्रों में ठोस कूड़ा प्रबंधन, सीवेज प्रबंधन आदि के लिए विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण (एसएडीए) के पास वित्तीय अभाव है। ऐसे में जनता के हित के लिए डेवलपमेंट फीस की व्यवस्था शुरू की जाए।

बैठक के फैसले के मुताबिक आरएलए स्पीति के निजी वाहनों को इस शुल्क से छूट है। इसके साथ ही स्पीति आरएलए में पंजीकृत निजी व स्थानीय निवासियों की देश के किसी भी अन्य आरएलए में वाहन पंजीकृत होगी तो उनसे शुल्क नहीं लिया जाएगा। इसी तरह किन्नौर जिले के स्पीति के साथ सटे गांव सुमरा गांव के स्थानीय निवासियों के निजी वाहनों से भी शुल्क नहीं लिया जाएगा।

स्पीति में आने वाले हर वाहन को शुल्क अदा करना होगा

सर्दियों में केवल समुदो में विकास शुल्क लिया जाएगा। वहीं गर्मियों में काजा-मनाली मार्ग खुलने पर लोसर में शुल्क के लिए बैरियर स्थापित किया जाएगा। यह 1 जून 2024 से शुरू किया जाएगा। फीस एकत्रित करने के लिए आऊट सोर्सिंग के आधार पर व्यक्ति नियुक्त किए जाएंगे, फिलहाल लोक निर्माण विभाग के कर्मी फीस एकत्रित करेंगे।
एसडीएम काजा हर्ष अमरेंद्र नेगी ने कहा कि एक जनवरी 2024 से डेवलपमेंट फीस एकत्रित की जाएगी। अब स्पीति में आने वाले हर वाहन को शुल्क अदा करना होगा। जिला लाहुल स्पीति के वाहनों को इस फ़ीस से छूट प्रदान की गई है। केवल लाहुल स्पीति के टैक्सी चालकों को शुल्क देना होगा। उन्होंने स्पीति वासियों सहित सभी पर्यटकों से अपील की है कि प्रशासन की इस पहल में अपना सहयोग और साथ अवश्य दें। स्पीति को सुंदर बेहतर और सुविधा संपन्न टूरिस्ट डेस्टिनेशन बनाने के लिए यह प्रयास शुरू किया है।

वाहनों के लिए निर्धारित शुल्क
बैठक में निर्धारित शुल्क के रूप में दोपहिया वाहन से 100 रुपये, कार 200 रुपये, स्पोर्ट्स वाहन से 300 रुपये, बस और ट्रक से 400 रुपये वसूले जाएंगे। आरएलए स्पीति में पंजीकृत टैक्सी वाहनों के लिए सालाना शुल्क की दरें तय की गई हैं। इन्हें एक पास एसएडीए की और से दिया जाएगा, जो एक साल तक मान्य होगा। उन्हें हर ट्रिप पर शुल्क नहीं देना होगा। बड़े वाहन जैसे मैक्सी और ट्रेवलर के लिए 2500 रुपये सालाना और 1500 रुपये छोटे वाहनों के लिए अदा करें होंगे।

वसूला गया शुल्क सुविधाओं पर होगा खर्च

इन वाहनों से वसूला गया विकास शुल्क से होनी वाली आय विभिन्न विकास और सुविधा कार्यों पर खर्च किया जाएगा। इन कार्यों में सार्वजनिक शौचालय निर्माण, सोलर लाइट, सीसीटीवी कैमरा, होर्डिंग बोर्ड, स्ट्रीट लाइट्स और सूचना पट्ट आदि किए जाएंगे।


खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.