हिमाचल में भी लाडली बहना के तर्ज पर महिलाओं को 1500 रु महीना, जानें देश के कितने राज्यों में ऐसी योजनायें?

Government Schemes for Women: हिमाचल सरकार ने भी प्रदेश की महिलाओं को 1500 रुपये हर महीने देने का ऐलान कर दिया है।
Sukhvinder Singh Sukhu, Arvind Kejriwal and Mohan Yadav
Sukhvinder Singh Sukhu, Arvind Kejriwal and Mohan Yadavraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। हिमाचल सरकार ने भी प्रदेश की महिलाओं को 1500 रुपये हर महीने देने का ऐलान कर दिया है। हिमाचल के सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू ने यह स्कीम 18 से 80 साल तक की महिलाओं के लिए लागू किया है। उन्होंने इस योजना को इंदिरा गांधी प्यारी बहना सुख सम्मान निधि योजना नाम दिया है।

किन किन राज्यों में इस तरह की स्कीम का महिलाओं को कितना लाभ मिल रहा है

वहीं दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी राजधानी की महिलाओं को 1000 रुपये हर महीने देने की घोषणा की है। इस तरह की शुरुआत दिल्ली और हिमाचल प्रदेश की तरफ से ही नहीं हुई है। बल्कि ऐसे कई और भी राज्य हैं, जहां महिलाओं को इस तरह के आर्थिक लाभ दिए जा रहे हैं। आइये इस खबर में जानते हैं कि किन किन राज्यों में इस तरह की स्कीम का महिलाओं को कितना लाभ मिल रहा है।

जिसकी शुरुआत 5 मार्च 2023 को की गई थी

मध्य प्रदेश में लाडली बहना योजना के अंतगर्त हर महिला के बैंक खाते में 1000 रु महीने दिया जाता है। जिसकी शुरुआत 5 मार्च 2023 को की गई थी। इसका उद्देश्य था कि महिलाएं अपनी दैनिक आवश्यकता जैसे खुद के लिए और अपने बच्चों के लिए दूध, फल, सब्जी जैसी जरुरी चीजों में इस योजना के पैसों को खर्च कर सके। राज्य सरकार ने यह योजना केवल मध्य प्रदेश की स्थायी निवासी महिलाओं के लिए लागू की।

जिसके लिए राज्य की महिला की उम्र 21 से कम नहीं होनी चाहिए और 60 साल से अधिक नहीं होनी चाहिए। मध्य प्रदेश की इस योजना के पात्र स्कूल और कॉलेज में पढ़ रही छात्रा को नहीं दिया जाता है। अगर महिला आयकर दाता है तो वह भी इस योजना का लाभ नहीं उठा पायेगी। वहीं महिला के परिवार की वार्षिक आय भी इस योजना का लाभ पाने के लिए 2.5 लाख रुपए से कम होनी चाहिए, अगर उसके परिवार की वार्षिक आय इससे अधिक हुई तो उसे इसका बिलकुल भी लाभ नहीं मिलेगा।

महिलाओं को पैसा निकालने के लिए डेबिट कार्ड भी दिया जाता है

छत्तीसगढ़ में महिलाओं को शक्ति प्रदान करने के लिए, राज्य की सरकार महतारी वंदना योजना के तहत महिलाओं को 1000 रु की सहायता प्रदान करती है।

वहीं तमिलनाडु में मुख्यमंत्री एमके स्टालिन की सरकार ने भी प्रदेश की महिलाओं के लिए योजना शुरू की है, जिसके तहत उन्हें आर्थिक मदद दी जा सके। उनकी सरकार ने इस योजना का नाम 'कलैग्नार मगलिर उरीमाई थोगई थित्तम' रखा है। इस योजना के तहत राज्य सरकार 1000 रु हर महीने महिलाओं के बैंक खाते में भेजती है। महिलाओं को पैसा निकालने के लिए डेबिट कार्ड भी दिया जाता है।

इसके तहत हर राज्य में विधवा पेंशन की राशि अलग अलग होती है

वहीं देश के सभी राज्यों में राज्य सरकार विधवा महिला पेंशन भी देती है। इस योजना के तहत जिन महिलाओं के पति की मृत्यु हो चुकी है और परिवार में कोई कमाने वाला सदस्य नहीं होता है, वही इस योजना के पात्र होंगे। इसके तहत हर राज्य में विधवा पेंशन की राशि अलग अलग होती है। जिसे अपने अपने राज्य के संबंधित विभाग से पता किया जा सकता है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.