Bus Accident: स्कूल बस हादसे में मृतकों की संख्या हुई आठ, घायल बच्चों को देखने अस्पताल पहुंचीं शिक्षा मंत्री

Mahendragarh School Bus Accident: कनीना ब्लाक के गांव उन्हानी में एक निजी स्कूल की बस दुर्घटना में आठ बच्चों की मौत हो गई, जबकि 15 से ज्यादा घायल होने की खबर के बाद राज्य की शिक्षा मंत्री...
Mahendragarh School Bus Accident
Mahendragarh School Bus AccidentRaftaar

रेवाड़ी, (हि.स.)। कनीना ब्लाक के गांव उन्हानी में एक निजी स्कूल की बस दुर्घटना में छह बच्चों की मौत हो गई जबकि 15 से ज्यादा घायल होने की खबर के बाद राज्य की शिक्षा मंत्री ने स्थानीय निजी अस्पताल पहुंचकर घायल बच्चों का हालचाल जाना।

35 बच्चों को लेकर स्कूल जा रही थी बस

गुरुवार सुबह कनीना ब्लाक के गांव उन्हानी में करीब 35 बच्चों को लेकर स्कूल जा रही थी, इस बीच गांव उन्हानी के पास हादसा हो गया, जिसमें पांच बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई और एक बच्चे ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। हादसे में मरने वाले सभी बच्चों की पहचान हो गई है। मरने वाले बच्चों की पहचान सत्यम (16), युवराज (14), यशु, अंशु, वंश (सभी 14 वर्ष) और रिकी (15) शामिल हैं।

हरियाणा की शिक्षा मंत्री सीमा त्रिखा अस्पताल पहुंचकर जाना घायल बच्चों का हालचाल

हादसे की सूचना मिलने पर हरियाणा की शिक्षा मंत्री सीमा त्रिखा रेवाड़ी के मातिृका अस्पताल पहुंचकर घायल बच्चों का हालचाल जाना। शिक्षा मंत्री ने बताया कि उनकी डॉक्टर से बात हुई है, बच्चों की हालत खतरे से बाहर है। उन्होंने कहा कि आज अवकाश के दिन स्कूल खुलना और एक लापरवाह ड्राइवर के हाथ में बच्चों की जिंदगी थमा देना सबसे बड़ी लापरवाही है। इसमें ड्राइवर, प्रिंसिपल व स्कूल मालिक के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। शिक्षा मंत्री ने कहा कि निजी स्कूल संचालक शिक्षा के नाम पर व्यापार करना बंद करें और नियमों का पालन करें। बच्चों की तरह खुद भी निजी स्कूल संचालक संस्कार सीखें।

प्रशासन हर संभव सहायता को तैयार

हरियाणा के पूर्व शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने भी इस हादसे पर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की हैं। इससे पहले अटेली के विधायक सीताराम यादव, पूर्व डिप्टी स्पीकर संतोष यादव व अन्य नेताओं ने घटनास्थल पर पहुंचकर हादसे की जानकारी लेते हुए दुख प्रकट किया। जिला उपायुक्त मोनिका गुप्ता ने कहा कि प्रशासन पूरी निगरानी रखे हुए है। सभी घायलों का इलाज कराया जा रहा है। बच्चों के इलाज को लेकर प्रशासन की ओर से जो भी संभव होगा वह सहायता दी जा रही है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.