नूंह हिंसा: CM ने कहा-प्रदेश की आबादी 2.7 करोड़, हमारे पास 60 हजार जवान; हर किसी की सुरक्षा नहीं कर सकती पुलिस

नूंह हिंसा: सीएम मनोहर लाल बुधवार को अधिकारियों से रिपोर्ट लेने के बाद चंडीगढ़ में पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि षड्यंत्रकारियों की पहचान की जा रही है और सर्च ऑपरेशन भी चलाया जा रहा है।
manohar lal khattar
manohar lal khattar

चंडीगढ़, हि.स.। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने नूंह में हिंसा की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि इस दर्दनाक घटना में अभी तक छह लोगों की मौत हुई है, जिनमें दो होमगार्ड के जवान हैं और चार नागरिक शामिल हैं। कई लोग घायल हुए हैं, जिन्हें नल्हड़ अस्पताल, मेदांता अस्पताल, गुरुग्राम व अन्य अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

भागे हुए लोगों को पकड़ने की हो रही कोशिश

मुख्यमंत्री मनोहर लाल बुधवार को अधिकारियों से रिपोर्ट लेने के बाद चंडीगढ़ में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे।उन्होंने बताया कि षड्यंत्रकारियों की पहचान की जा रही है और सर्च ऑपरेशन भी चलाया जा रहा है। इसके अलावा, जो लोग भागे हुए हैं, उन्हें पकड़ने की कोशिश की जा रही है। अभी तक 116 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं, आज उनका रिमांड लिया जाएगा और उनसे जानकारी हासिल की जाएगी। उन्होंने कहा कि जो भी लोग इसमें दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी, किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।

हरियाणा पुलिस की 30 कंपनियों तैनात

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की आबादी 2.7 करोड़ है. हमारे पास 60 हजार जवान हैं, ऐसे में पुलिस हर व्यक्ति की सुरक्षा नहीं कर सकती। उन्होंने यह भी बताया कि हरियाणा पुलिस की 30 कंपनियां तैनात की गई हैं और केंद्रीय सुरक्षाबलों की 20 कंपनियां केंद्र से हमें मिली थीं, जिनमें से तीन कंपनियां पलवल, दो कंपनियां गुरुग्राम और एक कंपनी को फरीदाबाद में तैनात किया गया है तथा 14 कंपनियां नूंह जिले में तैनात की गई हैं। आम नागरिकों की सुरक्षा करना हमारा दायित्व है, उनकी सुरक्षा के लिए हमारी सुरक्षा एजेंसियां, पुलिस सभी सतर्क हैं। अन्य स्थानों पर भी जो छुट-पुट घटनाएं हुई हैं, उन पर नियंत्रण कर लिया गया है, स्थिति सामान्य हो गई है। मनोहर लाल ने जनता से अपील करते हुए कहा कि लोग शांति बनाए रखें, आपसी तनाव से भाईचारा बिगड़ता है, इसलिए नागरिक भाईचारा बनाए रखें। भाईचारा बनाए रखने में ही प्रदेश की खुशहाली है, किसी प्रकार की घटना को आगे न बढ़ने दें। आमजन शांति और भाईचारा बनाकर समाज की एकता का संदेश दें।

Related Stories

No stories found.