Republic Day 2024 Live: शंखनाद के साथ शुरू हुई परेड, कर्तव्य पथ पर दिखी महिला सशक्तिकरण की गूंज

Republic Day 2024 Live: आज पूरे देश में 75वां गणतंत्र दिवस मनाया जा रहा है। इस साल भव्य समारोह में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए हैं।
Republic Day
Republic DayRaftaar

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। आज पूरे देश में 75वां गणतंत्र दिवस मनाया जा रहा है। इस साल भव्य समारोह में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए हैं। पहली बार इस कार्यक्रम की शुरुआत मिलिट्री बैंड की बजाय शंख नगाड़े की ध्वनि के साथ हुआ। गणतंत्र दिवस के मौके पर आज कर्तव्य पथ पर 'महिला सशक्तीकरण' पर केंद्रित झांकियां प्रदर्शित की जा रही हैं। इन झांकियों में सामाजिक-आर्थिक गतिविधियों में महिलाओं की भूमिका से लेकर महिला वैज्ञानिकों के योगदान की झलक देखने को मिल रही है। आपको बता दें कर्तव्य पथ पर राष्ट्रपति मुर्मू बग्घी में पहुंची थी जिसमें चीफ गेस्ट इमैनुएल मैक्रों भी थे। पीएम मोदी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और चीफ गेस्ट इमैनुएल मैक्रों का स्वागत किया था।

विभिन्न झांकियां और उनकी थीम

आंध्र प्रदेश की झांकी में स्कूली शिक्षा में बदलाव का प्रदर्शन किया गया।

ISRO की झांकी में दिखी भारतीय अंतरिक्ष इतिहास की गाथा। इसमें चंद्रयान-3 की सफल सॉफ्ट लैंडिंग की झलक।

महाराष्ट्र की झांकी में दिखी छत्रपति शिवाजी महाराज की थीम। इसमें बालक शिवाजी के साथ राजामाता जिजाऊ को भी दिखाया गया।

लद्दाख की झांकी का दिखा 'विकसित भारत' का संकल्प। रोजगार के ज़रिए महिला सशक्तिकरण पर दिया गया जोर।

तमिलनाडु की झांकी में राज्य के कुदावोलाई प्रणाली की झलक दिखाई दी।

ओडिशा की झांकी का थीम विकसित भारत में महिला सशक्तिकरण रहा।

छत्तीसगढ़ की झांकी छत्तीसगढ़िया संस्कृति और विरासत।

ओडिशा की झांकी में दिखा विकसित भारत में महिला सशक्तिकरण।

गुजरात की झांकी में कच्छ के टूरिज्म विलेज धोर्डो पर फोकस किया गया।

उत्तर प्रदेश की झांकी में नजर आया भगवान रामलला का बाल स्वरूप।

राजस्थान की झांकी में राजस्थानी संस्कृति की झलक दिखाई दी।

शंखनाद के साथ शुरू हुई परेड

कर्तव्य पथ पर शंखनाद के साथ परेड शुरू हुई। 112 महिला कलाकारों ने वाद्ययंत्र लेकर इसकी शुरुआत की थी। इसमें 20 महिलाएं महाराष्ट्र का ढोल और ताशा, 16 महिलाएं तेलंगाना का डप्पू, 16 महिलाएं बंगाल का ढाक और ढोल एवं 30 महिलाएं कर्नाटक का ढोलू कुनिथा बजा रही थी। इसके साथ इस बार परेड में फ्रांस की सेना का मार्चिंग दस्ता और बैंड भी शामिल हुआ था। यह 30 जवानों का फ्रांसीसी सेना का बैंड है जिसकी कमान कैप्टन खुर्दा ने संभाली थी।

परेड में दिखा टी-90 टैंक भीष्म का जलवा

इस बार कर्तव्य पथ पर टी-90 टैंक भीष्म ने भी परेड में अपना जलवा दिखाया। इसकी कमान लेफ्टिनेंट फैज सिंह ढिल्लन संभाल रहे थे। इसके साथ 9 रैपिड इंजीनियर रेजिमेंट के कैप्टन सुमन सिंह के नेतृत्व में कोर ऑफ इंजीनियर्स के सर्वत्र मोबाइल ब्रिजिंग सिस्टम का दस्ता भी कर्तव्य पथ से गुजरा था।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.