बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती को लगाएं ये भोग, पूरी होगी हर मनोकामना

14 फरवरी को देशभर में बसंत पंचमी का त्यौहार मनाया जाएगा। अगर इस दिन आप मां सरस्वती को पंच भोग का प्रसाद चढ़ाते है, तो मां की कृपा आप पर सदा बनी रहेगी और आपकी हर मनोकामना पूरी होगी।
Offer five offerings to Goddess Saraswati
Offer five offerings to Goddess SaraswatiSocial media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। हिंदू धर्म में बसंत पंचमी का त्यौहार बहुत ही खास माना जाता है। बसंत पंचमी का त्यौहार पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाता है। इस बार बसंत पंचमी 14 फरवरी 2024 को पड़ रही है। इस त्योहार से ही बसंत ऋतु का आगमन हो जाता है। बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की विधिवत पूजा अर्चना की जाती है। पूजा करने वाले भक्त को बल बुद्धि और धन की प्राप्त होती है। इसके साथ ही पूरे साल जीवन सुखमय रहता है । और घर में सुख समृद्धि बनी रहती है। अगर आप बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा करने के दौरान इन पांच चीजों का भोग लगाते हैं तो मां सरस्वती से प्रसन्न होती है।

मां सरस्वती को क्या भोग लगाएं

कहते हैं मां सरस्वती को पीला रंग बहुत पसंद है। खेतों में कर सन के लहराते पीले फूल बसंत ऋतु आने का प्रतीक है। आई आपको बताते हैं कि बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती को किन पांच चीजों का भोग लगाएं।

बूंदी का भोग

मान्यताओं के अनुसार मां सरस्वती को बंदी बहुत प्रिय है इसलिए आप बसंत पंचमी दिन पूजा करते समय मां सरस्वती को बंदी या फिर बूंदी के बने लड्डू का भोग चढ़ा सकते हैं। प्रसाद को आप सभी जरूरतमंदों में बांटे। आप पर मां की कृपा बनी रहेगी।

बेसन के लड्डू

बसंत पंचमी के दिन पूजा के दौरान मां सरस्वती को बेसन के लड्डू का भोग चढ़ाना चाहिए। इससे मां सरस्वती के साथ-साथ भगवान विष्णु भी अति प्रसन्न होते हैं। ऐसा करने से वाणी दोष दूर होता है।

पीले मीठे चावल

बसंत पंचमी के दिन पूजा के दौरान मां सरस्वती को पीले रंग का चावल चढ़ाना काफी शुभ माना जाता है। आप पीले रंग के चावल का भोग भी चढ़ा सकते हैं।

जलेबी और मालपुआ

पूजन के दौरान आप मां सरस्वती को बेसन यह मैदा की जलेबी का भोग भी चढ़ा सकते हैं। इसके अलावा मां सरस्वती को मालपुआ भी बहुत पसंद है आप इसका भोग भी चढ़ा सकते हैं।

केसर हलवा

बसंत पंचमी के दिन में मां सरस्वती की पूजा करने के समय आपके सर का हलवा का भोग भी चढ़ा सकते हैं यह काफी शुभ माना जाता है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें- Hindi News Today: ताज़ा खबरें, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, आज का राशिफल, Raftaar - रफ्तार:

Related Stories

No stories found.