Budget 2024: कभी नीली कभी लाल साड़ी में निर्मला सीतारमण, जानें क्या कहता है हर रंग

New Delhi: 2019 से 2023 के बजट सत्र में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजटे पेश करती आई है। इस दौरान उनकी भारतीय संस्कृति की शोभा बढ़ाने वाली साड़ियां भी चर्ची में रही हैं।
Budget 2024: कभी नीली कभी लाल साड़ी में निर्मला सीतारमण, जानें क्या कहता है हर रंग

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज संसद भवन में अंतरिम बजट पेश किया। ये मोदी सरकार का आखिरी बजट सत्र था। अंतरिम बजट एक छोटे-से समय के लिए होता है जबतक केंद्र में नई सरकार न बन जाती हो। नई केंद्र सरकार बनने के बाद, सरकार संसद भवन में जून-जुलाई के महीने में नया बजट पेश करेगी। इस साल में आगामी लोकसभा चुनाव होने वाले हैं। इसलिए इस साल 2 बार बजट पेश होगा। 2019 से 2024 तक निर्मला सीतारमण 6 बार बजट पेश कर चुकी हैं। इस बीच हर बार उनकी साड़ियों ने लोगों का ध्यान आकर्षित करता आया है।

भारत दुनिया में साड़ी का सबसे बड़ा बाजार

साड़ी भारत की पहचान है, ये हमारी संस्कृति, गौरव, परिधान और विरासत को दर्शाता है। पूरी दुनिया में साड़ी का सबसे बड़ा बाजार भारत है। बात जब साड़ियों की आती है तब महिलाओं का नाम सबसे पहले आता है क्योंकि साड़ियां महिलाओं की सबसे पसंदीदा आउटफिट होता है। भारत में हर राज्य की अलग-अलग साड़ियां पाई जाती हैं। भारत में शादियों में त्यौहारों में और हर अच्छे अवसर पर साड़ी पहनी जाती है। कौन-सी साड़ी कहां से आती है?

बनारस - बनारसी साड़ी

लखनऊ- चिकनकरी साड़ी

पश्चिम बंगाल- तांत की साड़ी

महाराष्ट्र- नौवारी साड़ी

तमिलनाडु- कांजीवरम साड़ी

असम- सिल्क साड़ी

असम- मूंगा साड़ी

गुजरात- बांधनी साड़ी

ओडिशा- बोमकाई साड़ी

मध्य प्रदेश- चंदेरी

केरल- कसावू साड़ी

वित्त मंत्रालय ने इस बार पहनी नीले रंग की साड़ी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2019 से 2024 तक कई रंगों की साड़ी पहनी है जिनमें लाल, पीला, गुलाबी शामिल है। इस साल निर्मला सीतारमण ने नीले रंग की साड़ी पहनी थी। हर रंग एक संदेश देता है। जैसे सफेद को शांति और समृद्धि का प्रतीक होता है। वैसे ही हर रंग के अंदर का एक भेद होता है।

2024

आज हुए अंतरिम बजट पेश में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लीले रंग की साड़ी पहनी थी। नीला रंग पानी की ही तरह चंचल, गतिमान और जीवनदायिनी शक्ति का प्रतीक होता है।

2023

पिछले साल निर्मला सीतारमण ने गहरे लाल रंग की साड़ी पहनी थी, जिसमें काला और गोल्डन रंग का बॉर्डर डिजाइन बना था। लाल रंग धन, विपुल संपत्ति, समृद्धि और शुभ-लाभ की प्रतीक है। काला रंग बुरी नजर से बचाता है। गोल्डन रंग समृद्धि, सफलता और धन का प्रतीक है।

2022

2022 में निर्मला सीतारमण ने भूरे रंग की साड़ी पहनी थी। भूरा रंग ताकत, स्थिरता, विश्वसनीयता और व्यावहारिकता, जमीनी और यथार्थवादी होने का प्रतीक है।

2021

यूनियन बजट 2021 के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लाल रंग की साड़ी पहनी थी। लाल रंग उत्साह, सौभाग्य, उमंग, साहस और नवजीवन का प्रतीक है। लाल रंग उग्रता का भी प्रतीक है।

2020

इस बजट सत्र के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पीले रंग की साड़ी पहनी थी। पीला रंग सुख और समृद्धि का प्रतीक है।

2019

यह उनका पहला बजट सत्र था इस सत्र में उन्होंने गहरे गुलाबी रंग की साड़ी पहनी थी। इस सत्र से भारत में ब्रिफ केस में बजट के डॉक्यूमेंट लाने का प्रचलन वित्त मंत्री ने खत्म करके। भारत की पुरानी प्रथा की शुरुआत की। संसद में पहली बार लाल रंग के बहीखाते के साथ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण प्रस्तुत हुई। इसी के साथ देश में पहली बार डिजिटल इंडिया का भी आरंभ हुआ। पहली बार देश की वित्त मंत्री ने कागज की जगह I-Pad पर बजट पढ़ कर संसद में सुनाया।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.