Lok Sabha Poll: Congress ने जारी किया घोषणापत्र, 5 न्याय और 25 गारंटी पर फोकस, MSP को दिखाई हरी झंडी

New Delhi: नई दिल्ली में कांग्रेस पार्टी आज चुनावी घोषणापत्र का ऐलान किया है। पार्टी आज पांच न्याय की गारंटी का वादा जनता से किया है।
Rahul Gandhi 
Mallikarjun Kharge 
Lok Sabha Poll
Rahul Gandhi Mallikarjun Kharge Lok Sabha PollRaftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। लोकसभा चुनाव 2024 के लिए कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी ने 5 अप्रैल को घोषणापत्र जारी कर दिया। कांग्रेस ने पांच न्याय का मुद्दा अपने घोषणापत्र में शामिल किया है। इस दौरान सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी समेत कई बड़े नेता मौजुद रहे।

आज घोषणापत्र का होगा ऐलान

मल्लिकार्जुन खड़गे ने "X" पर लिखा कि "कांग्रेस पार्टी आज अपना घोषणापत्र जारी करेगी। हमारा 5वां न्याय- 25वां गारंटी एजेंडा राष्ट्र के कल्याण के लिए हमारी बिना किसी भेद-भाव का प्रतिनिधित्व करता है। 1926 से आज तक, कांग्रेस का घोषणापत्र हमारे और भारत के लोगों के बीच अटूट विश्वास का एक पवित्र दस्तावेज है।"

क्या है कांग्रेस का घोषणापत्र?

राहुल गांधी की 'भारत जोड़ों न्याय यात्रा' को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस पार्टी ने राहुल गांधी के नेतृत्व में "पांच न्याय" या इसे न्याय के पांच स्तंभ भी कह सकते हैं। इस चुनावी घोषणापत्र को राहुल गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे और प्रियंका गांधी जयपुर और हैदराबाद में होने वाली जनसभा में लोगों के सामने पेश किया। इसके अलावा कांग्रेस के घोषणापत्र के फायदे लोगों तक पहुचाएंगे। इसके अलावा कांग्रेस 25 गारंटी दी है जिसमें गैस सिलेंडर 450 रुपये में देने का वादा किया और अग्निवीर योजना को बंद करने का ऐलान किया।

क्या है पांच न्याय?

कांग्रेस ने भारत जोड़ों न्याय यात्रा से प्रेरित होकर अपने घोषणापत्र को पांच न्याय का नाम दिया है। पांच न्याय का मतलब है-

1. युवा न्याय

2. नारी न्याय

3. किसान न्याय

4. श्रमिक न्याय

5. हिस्सेदारी न्याय

क्या है ये पांच न्याय?

कांग्रेस की पहले वादे में पार्टी ने युवा न्याय पर फोकस किया है। देश में बेरोजगारी की समस्या को देखते हुए कांग्रेस युवाओं को रोजगार की गारंटी देने का वादा किया है। दूसरी वादे में पार्टी ने नारी न्याय पर फोकस किया है, देश में बढ़ते महिलाओं के खिलाफ हो रहे जघन्य अपराधों और सुरक्षा-व्यवस्था को देखते हुए पार्टी ने महिलाओं को न्याय देने का वादा किया है। तीसरे वादे में कांग्रेस ने किसान न्याय का हवाला दिया है। किसान आंदोलन के दौरान ही पार्टी ने MSP गारंटी देने का भरोसा जताया था। चौथे वादे में पार्टी ने श्रमिक न्याय पर फोकस किया है ताकि श्रमिकों को रोजगार मिल सके। इसके बाद आता है हिस्सेदारी न्याय, पार्टी ने सरकारी काम और योजनाओं में लोगों की हिस्सेदारी बढ़ाने का वादा किया है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.