Lok Sabha Election: भारत जोड़ो न्याय यात्रा का अंत, BJP छोड़ो का आरंभ, मोदी की शक्ति पर इंडिया गठबंधन का हमला

New Delhi: मुंबई में राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का समापन हो गया है। इसी के साथ इंडिया गठबंधन ने केंद्र में BJP की सरकार के खिलाफ हुंकार भरा।
I.N.D.I.A Alliance
I.N.D.I.A Alliance Raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। लोकसभा चुनाव 19 अप्रैल से लेकर 1 जून तक चलेंगे। राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का मुंबई में द एंड हो गया है। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला किया। उन्होंने BJP की सरकार को हटाने का एजेंडा सेट किया। BJP की हैट्रिक को फेल करने के लिए इंडिया गठबंधन ने "BJP छोड़ो" का नारा लगाया।

ट्रीपल-E के बहाने मोदी सरकार को घेरा

मुंबई के शिवाजी पार्क में राहुल गांधी की जनसभा में विपक्षी गठबंधनों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। सैकड़ो की संख्या में लोग इस रैली में शामिल हुए। राहुल गांधी के सुर पर इंडिया गठबंधन के नेताओं ने ट्रीपल-E के बहाने मोदी सरकार को घेरा। ट्रीपल-E यानि कि Election Bond, ED और EVM मशीन। राहुल गांधी ने इन तीनों मुद्दों को सरकार की शक्ति बताई। शिवसेना (उद्धव गुट) के नेता उद्धव ठाकरे और राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी (समाजवादी पार्टी) के सुप्रीमो शरद पवार भी शामिल हुए थे।

EVM पर राहुल गांधी का हमला

राहुल गांधी ने कहा EVM को लेकर सरकार पर हमला किया और बोले कि इलेक्शन कमीशन से हमने कहा कि एक काम कीजिए, विपक्षी पार्टी को EVM मशीनें दिखा दीजिए, खोलकर हमें दिखा दीजिए। ये मशीनें कैसे चलती हैं, लेकिन नहीं दिखाई। फिर हमने कहा कि इसमें से कागज निकलता है, वोट मशीन में नहीं है, वोट कागज में है। राहुल ने कहा कि EVM में कोई दिक्कत नहीं है तो VVPAT की पर्ची से चुनाव आयोग गिनती क्यों नहीं कराता। उन्होंने पूछा कि आख़िर इसमें क्या दिक्कत है?

ED का डर दिखा रही है केंद्र सरकार

इंडिया गबंधन ने कहा कि मोदी सरकार ED का डर दिखाकर हमारी पार्टी के नेताओं को अपनी पार्टी में शामिल कर रही है। पार्टी कार्यकर्ता जेल जाने के डर से BJP में शामिल हो रहे हैं। सरकार ED का दुरुपयोग कर रही है। कांग्रेस, शिवसेना और NCP से कई नेता ऐसे ही पार्टी छोड़कर चले गए। कांग्रेस ही नहीं तमाम विपक्ष नेता खुलकर ED के एक्शन और छापेमारी को राजनीति से प्रेरित बता रहे हैं और विपक्षी जुबान बंद कराने का आरोप लगाते रहे हैं। ऐसे में साफ है कि राहुल गांधी ने जिस तरह से शिवाजी पार्क में इस मुद्दे को उठाया है। उससे साफ है कि चुनावी रैलियों में भी यही शोर सुनाई देगा। कई नेता कह रहे हैं कि हम जेल नहीं जाना चाहते।

इलेक्टोरल बॉन्ड पर का भी मुद्दा आया सामने

TV9 भारतवर्ष के रिपोर्ट के अनुसार, राहुल गांधी ने रैली में कहा कि नरेंद्र मोदी के पास भ्रष्टाचार की मोनोपॉली है। आज चार तरीके से वसूली चल रही है। इसमें पहला है चंदा दो, धंधा लो दूसरा है ⁠हफ्ता वसूली, तीसरा है ⁠ठेका लो, रिश्वत दो और चौथा और आखिरी शेल कंपनी है। राहुल ने कहा कि आज इलेक्टोरल बॉन्ड का सिस्टम निकाला, यहां सड़कों पर एक्सटॉर्शन चलता है, वो BJP सरकार में कर रहे हैं। कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट मिलता है, फिर वो सीधे इलेक्टोरल बॉन्ड खरीद लेते हैं। कंपनी को प्रॉफिट ही नहीं है और उससे ज्यादा पैसा वो BJP को दे रही है। इस बार लोकसभा चुनाव में विपक्ष इन तीनों मुद्दों को अपना हथियार बनाएगा।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.