Lok Sabha Election 2024: चंद्रबाबू नायडू ने अमित शाह से की मुलाकात, NDA में हो सकती है वापसी!

New Delhi: तेलुगु देशम पार्टी के अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू भी लोकसभा चुनाव से पहले NDA में शामिल हो सकते हैं। बुधवार देर रात उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की।
Chandrababu Naidu 
Amit Shah
Chandrababu Naidu Amit Shah Raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। तेलुगु देशम पार्टी के अध्यक्ष एन चंद्रबाबू नायडू ने बुधवार देर रात गृह मंत्री अमित शाह से उनके दिल्ली आवास में मुलाकात की। इस बैठक में BJP राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी शामिल थे। इन संकेतों के बीच कि दोनों दल आगामी लोकसभा चुनावों के लिए आंध्र प्रदेश में हाथ मिला सकते हैं। इस साल आंध्र प्रदेश में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ होंगे।

गठबंधन से BJP को हो सकता है फायदा

आंध्र प्रदेश में नायडू भाजपा के नेतृत्व वाले NDA गठबंधन में लौटते हैं, तो वह JDU के अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विपक्ष के साथ संबंध तोड़कर NDA में शामिल होने के बाद ऐसा करने वाले दूसरे प्रमुख क्षेत्रीय नेता होंगे। सूत्रों ने कहा कि TDP अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री BJP के साथ हाथ मिलाने के इच्छुक हैं और सत्तारूढ़ दल के एक वर्ग का मानना ​​है कि नायडू के साथ गठबंधन से NDA को YSR Congress शासित राज्य में अच्छा प्रदर्शन करने में मदद मिलेगी। चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि NDA में नायडू सत्तारूढ़ गठबंधन को अपनी सीटें बढ़ाने में मदद करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में संसद में कहा था कि अप्रैल-मई में 543 सदस्यीय सदन के लिए होने वाले संभावित चुनाव में उनकी पार्टी को 370 सीटें मिलेंगी और NDA 400 सीटें पार कर जाएगा।

सीट बंटवारा का है मुद्दा

BJP के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि उनकी पार्टी गठबंधन के लिए तैयार है लेकिन यह सब इस पर निर्भर करेगा कि राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी TDP कितनी सीटें देने पर सहमत होती है, खासकर लोकसभा चुनावों के लिए। दोनों ने 2014 का चुनाव एक साथ मिलकर लड़ा था जब तेलंगाना औपचारिक रूप से आंध्र प्रदेश से अलग नहीं हुआ था। BJP ने तब संयुक्त राज्य की 42 सीटों में से 3 सीटों पर चुनाव लड़ा था और सभी पर जीत हासिल की थी। सूत्रों ने कहा कि तेलंगाना के गठन के बाद, आंध्र प्रदेश में 25 सीटें हैं और BJP 6 से 8 सीटों के बीच कहीं भी चुनाव लड़ने की इच्छुक है।

TDP का NDA में शामिल होने के आसार

TDP 2018 में NDA से बाहर हो गई थी, लेकिन 2019 के चुनावों में उसे बड़ी हार झेलनी पड़ी उस समय वह केवल 3 लोकसभा सीटें जीत सकी और राज्य में YSR Congress के हाथों सत्ता खो दी। YSR Congress ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार का समर्थन किया था। हालांकि, इस बार राजनीतिक समीकरणों ने BJP को TDP के साथ अपने संबंधों को पुनर्जीवित करने की संभावना तलाशने के लिए प्रेरित किया है, जो लंबे समय से इस मामले पर गंभीरता से विचार कर रही है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.