Land Scam: ED की रिमांड के दौरान हेमंत सोरेन को परिवार के सदस्यों और वकील से मिलने की मिली छूट

Ranchi News: जमीन घोटाले मामले में गिरफ्तार हेमंत सोरेन की 5 दिन की ED रिमांड बढा गई है। इस दौरान कोर्ट से उन्हें अपने परिवार और वकील से मिलने की छुट मिली है।
Hemant Soren 
Enforcement Directorate
Hemant Soren Enforcement DirectorateRaftaar.in

रांची, हि.स.। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से जमीन घोटाला मामले में पूछताछ के लिए 5 दिनों की रिमांड मिली है। ईडी के विशेष न्यायाधीश दिनेश राय की कोर्ट ने शुक्रवार को रिमांड के दौरान हेमंत सोरेन का मेडिकल चेकअप कराते रहने का निर्देश दिया है। साथ ही किसी तरह की शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना नहीं करने का भी निर्देश है। इस दौरान हेमंत सोरेन को परिवार के सदस्यों और वकील से मुलाकात करने की छूट दी गयी है।

जमीन घोटाले में हेमंत सोरेन गिरफ्तार

उल्लेखनीय है कि हेमंत को बड़गाईं अंचल की 8.45 एकड़ जमीन का मामले में गिरफ्तार किया गया है। हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी ईसीआईआर संख्या आरएनजेडओ/25/23 के तहत की गयी है। ईडी ने यह ईसीआईआर सदर थाने में राजस्व कर्मचारी भानु प्रताप प्रसाद के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी के आलोक में की थी।

सुप्रीम कोर्ट ने दिया था आदेश

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को बुधवार रात को गिरफ्तार कर लिया गया था। जिसके खिलाफ सोरेन ने पहले हाई कोर्ट का रुख किया था। मामले की गंभीरता को देखते हुए हेमंत सोरेन ने गिरफ्तारी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख किया, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के लिए अपनी सहमति दे दी थी। आज इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई जिसमे सर्वोच्च न्यायलय ने कहा कि इस मामले में हाई कोर्ट का ही रुख करें। अब हेमंत सोरेन को हाई कोर्ट में ही अपनी याचिका दर्ज करनी होगी।

चंपई सोरेन बने मुख्यमंत्री

चंपई सोरेन झारखंड के नए मुख्यमंत्री बन गए हैं। 2 फरवरी को चंपई सोरेन ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, इसी के साथ ही वो राज्य के 12वें मुख्यमंत्री बन गए हैं। उन्हें राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलवाई। आपको बता दें कि 31 जनवरी की रात में ही चंपई ने सरकार बनाने का दावा पेश किया था। राज्यपाल ने 1 फरवरी की रात उन्हें सरकार बनाने का आमंत्रण दिया, इसके साथ ही शर्त रखी कि चंपई को 10 दिन के अंदर अपना बहुमत सिद्ध करना होगा।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.