UPSC का जूनूनः 12 अटेम्प्ट, 7 मेन्स और 5 इंटरव्यू के बाद भी नहीं हुआ बेड़ा पार, लेकिन नहीं मानी अभी हार

अक्सर लोग UPSC के दो से चार अटेम्प्ट देने के बाद अपनी हार मान लेते है। लेकिन अभी भी जिंदा है उस शख्स का हौसला जिसने हार ना मानने की जिद पकड़ ली है। 12 अटेम्प्ट दे चुका है यह शख्स।
Kunal R Virulkar
Kunal R Virulkar

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। यूपीएससी की अनगिनत सफलता की कहानियां आपने पढ़ी और सुनी होंगी। यह कहानियां उन लोगों की होती हैं, जो परीक्षा क्लियर कर आईएएस बन जाते हैं. लेकिन आपको उन लोगों की कहानियां भी जाननी चाहिए, जो कई प्रयासों के बाद भी कुछ ही अंतर से सेलेक्शन से वंचित रह जाते हैं। लेकिन अपना हौसला नहीं खोते और फिर से तैयारियों में लग जाते हैं। ऐसे ही एक शख्स के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं, जो 12 अटेम्प्ट दे चुके हैं।

किसने दिए 12 अटेम्प्ट

ये शख्स हैं कुणाल आर विरुलकर (Kunal R Virulkar), जोकि महाराष्ट्र के रहने वाले हैं। कुणाल एक्स (पूर्व ट्विटर) पर एक्टिव हैं और अपनी जिंदगी से जुड़े अनुभव साझा करते रहते हैं। वह अब तक 12 बार यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा दे चुके हैं। उन्होंने हाल ही में ट्वीट करते हुए बताया कि 2023 में उन्होंने 12वां अटेम्प्ट दिया।

सेलेक्शन के पहुंचे करीब

कुणाल कई बार सेलेक्शन के करीब पहुंचे, लेकिन उनकी किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया और कुछ ही फासले से वह सिविल सर्विस अधिकारी बनते-बनते रह गए। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार वह इससे पहले 7 बार मेन्स परीक्षा में शामिल हो चुके हैं। वहीं 5 बार वह इंटरव्यू राउंड तक भी पहुंचे है। लेकिन अब तक सफलता हाथ नहीं लगी है। इस बार वह 12वीं बार मेन्स में शामिल हुए।

काम के साथ कर रहे हैं तैयारी

कुणाल अपनी पोस्ट में बताते हैं कि अब वह फुल टाइम अभ्यर्थी नहीं हैं, बल्कि काम के साथ परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। लोग उनके धैर्य और हौसले की तारीफ भी कर रहे हैं। गौरतलब है कि यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है। हर साल 9 से 10 लाख लोग परीक्षा में शामिल होते हैं, लेकिन तकरीबन 900 लोग ही परीक्षा क्लियर कर अधिकारी बन पाते हैं।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.