High Court ने AAP वकीलों को दी चेतावनी, कहा- अदालत के अंदर प्रदर्शन करने पर परिणाम भुगतने के लिए रहें तैयार

New Delhi: दिल्ली शराब घोटाले मामले में अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी होने के बाद AAP के वकीलों को कोर्ट परिसर के अंदर विरोध प्रदर्शन करने पर चेतीवनी दी है।
Arvind Kejriwal 
Delhi High Court
Arvind Kejriwal Delhi High Court Raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी और रिमांड से जमानत मिलने की याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट में आज सुनवाई चल रही है। हाई कोर्ट ने AAP के वकीलों को चेतावनी दी है कि अगर वे दिल्ली की किसी भी अदालत के अंदर कोई विरोध-प्रदर्शन करने की योजना बनाते हैं तो परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें।

AAP के वकीलों को हाई कोर्ट ने दी चेतावनी

दिल्ली हाई कोर्ट ने AAP के वकीलों को चेतावनी दी है कि अगर वे दिल्ली की किसी भी अदालत के अंदर कोई विरोध-प्रदर्शन करने की योजना बनाते हैं तो परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें। बार और बेंच ने मामले की सुनवाई के दौरान जस्टिस मनमोहन के हवाले से कहा, ''अदालत में विरोध प्रदर्शन आयोजित करने के परिणाम बहुत गंभीर होते हैं।'

ED को नहीं मिला पैसा

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने आज कहा कि उनके पति आबाकारी नीति घोटाले में बड़ा खुलासा और सबूत भी पेश करेंगे। उन्होंने दावा किया है कि ED द्वारा मारे गए कई छापों में कोई पैसा नहीं मिला। उन्होंने कहा कि "2 साल की जांच के बावजूद ED को सबूत के तौर पर एक पैसा भी नहीं मिला। उन्होंने मुख्यमंत्री के आवास पर छापा मारा लेकिन उन्हें सिर्फ 73,000 रुपये मिले।" "मेरे पति ने हिरासत में रहते हुए जल मंत्री आतिशी को निर्देश जारी किए। केंद्र को इससे दिक्कत थी। क्या वे दिल्ली को बर्बाद करना चाहते हैं?" उन्होंने कहा कि केजरीवाल केंद्र के बरताव से बहुत दुखी हैं। आज डिजिटल ब्रीफिंग में सुनीता केजरीवाल ने कहा कि केजरीवाल एक बहादुर और सच्चे इंसान हैं और उनका संकल्प मजबूत है।

तर्क-विर्तक में उलझा मामला

हालांकि, अदालत में ED ने याचिका पर जवाब तैयार करने के लिए और समय मांगा। ED ने तर्क दिया कि उसे याचिका 26 मार्च को ही सौंपी गई थी और उन्हें 3 सप्ताह का समय दिया जाना चाहिए। केजरीवाल के वकील वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने तर्क दिया कि ED का अधिक समय मांगना सिर्फ देरी की रणनीति है। सिंघवी ने कहा कि केजरीवाल की गिरफ्तारी एक गंभीर मुद्दा है। जिस पर तत्काल निर्णय की आवश्यकता है और इस बात पर जोर दिया कि चुनौती गिरफ्तारी की नींव को लेकर है। केजरीवाल के सिर के उपर से 28 मार्च को ED की रिमांड खत्म हो जाएगी। लेकिन यह तलवार अभी भी केजरीवाल के सिर पर लटकी हुई है क्योंकि ED के बाद CBI भी केजरीवाल को हिरासत में लेगी।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.